तेजस्वी यादव बोले – मुजफ्फरपुर अल्पावास गृह रेप मामले में आरोपियों को बचा रही है सरकार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्कः बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर सहित राज्य के अन्य जिलों में अल्पावास गृह की लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार निशाना साधा है. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार आरोपियों को बचाने में लगी है. तेजस्वी ने कहा कि गत मार्च महीने से इस बात की जानकारी होने के बावजूद राज्य सरकार द्वारा आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं गयी और अब एक लड़की को मारकर उसके शव को दफना दिये जाने की बात सामने आयी है.

लड़कियों को गर्भपात के लिए मजबूर किया – तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव ने कहा कि 7 साल से 17 साल की 40 नाबालिग लड़कियों के साथ कई महीनों तक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया. कई लड़कियों को गर्भपात कराने के लिए भी मजूबर किया गया. उन्होंने आरोपियों पर सत्ता से नजदीक होने का भी आरोप लगाया.

बिहार के कई जिलों में शोषण – तेजस्वी यादव

तेजस्वी ने कहा कि ऐसा केवल मुजफ्फरपुर में ही नहीं हुआ, बल्कि मोतिहारी, सीवान और हाजीपुर में अन्य अल्पावास गृहों में भी शोषण की सूचना है. पीड़ित लड़कियां गरीब और अनाथ हैं, लिहाजा राज्य सरकार आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है.

विधानसभा में उठेगा मुद्दा

बिहार विधानमंडल के आज हंगामे के पूरे आसार हैं. बिहार में बिगड़ती कानून व्यवस्था, बिहार में सूखा और मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेपकांड समेत कई मुद्दों पर विपक्ष सरकार को घेरेगा. इसी बीच शराबबंदी कानून में संशोधन विधेयक पर भी सदन में चर्चा होगी. बिहार सरकार कई मुद्दों को लेकर विपक्ष के निशाने पर होगी. उधर राजद ने पहले ही सदन की कार्यवाही नहीं चलने देने को कहा है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और सीएम नीतीश कुमार में सवाल जवाब होगा.

आपको बता दें कि तेजस्वी प्रसाद यादव ने सदन के बाहर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि उनकी पार्टी आरजेडी मानसून सत्र के दौरान दोनों सदनों में नीतीश कुमार सरकार की असफलताओं को उजागर करेगी. उन्होंने आरोप लगाया कि जेडीयू और बीजेपी के अवसरवादी गठबंधन और तथाकथित डबल इंजन वाली इस सरकार के कार्यकाल के दौरान इस प्रदेश को कोई फायदा नहीं हुआ है.

About Md. Saheb Ali 3499 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*