जिसकी सरकार वहीं मचाए कोहराम, कानून व्यवस्था पर संजय जायसवाल के सवाल पर कांग्रेस-आरजेडी ने ली चुटकी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में लॉ एंड ऑर्डर पर अक्सरहा विपक्ष सवाल उठाता रहा है. जिसको सियासत का नाम दिया जाता रहा है. लेकिन इस बार सरकार के साझीदार बीजेपी ने ही लॉ एंड ऑर्डर पर सवाल खडा कर दिया. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर संजय जायसवाल ने तो बजापते अपने फेसबुक वॉल पर कानून व्यवस्था खराब होने की पूरी दास्तान बयां कर दी है.

डॉक्टर संजय जायसवाल की नाराजगी जाहिर करते ही विपक्ष हमलावर हो गया है. कांग्रेस प्रवक्ता प्रेमचंद्र मिश्रा ने एनडीए सरकार पर जबरदस्त हमला बोला. उन्होंने कहा कि हमलोग काफी पहले से ही बिहार में कानून व्यवस्था नहीं होने की बात कहते रहे हैं. लेकिन सत्तापक्ष के कानों पर जू तक नहीं रेंगता है. अब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष द्वारा सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं. जो की महज के पाखंड मात्र है.



डॉक्टर संजय जायसवाल के डीजीपी से मिलने की बात पर पलटवार करते हुए प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि जिसकी सरकार हो, जिसके दो-दो डिप्टी सीएम हैं, वह डीजीपी से मिलने की बात करता है. उन्हें तो सीएम से मिलना चाहिए. लेकिन वैसा ना कर डीजीपी से मिलकर सिर्फ दिखावा करना चाहते हैं.

उधर आरजेडी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने डॉक्टर संजय जायसवाल के सवाल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अब तक तो नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ही सरकार पर सवाल खड़े कर रहे थे कि बिहार में अपराधी राज कायम है और अपराधियों का मनोबल बढ़ा हुआ है. अब इस बात की पुष्टि तो बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ही कर रहे हैं. आपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी है यह बता रही है कि तेजस्वी जो सवाल खड़े कर रहे हैं वे सही हैं.

आगे उन्होंने यह भी कहा कि इस प्रकार के हथकंडे से बीजेपी नीतीश कुमार पर दबाव बनाना चाहती है. क्योंकि गृह विभाग नीतीश कुमार के पास है. इसलिए संजय जायसवाल ने सोची-समझी रणनीति के तहत ही यह बात कही है कि बिहार में आपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. इसका जवाब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को स्वयं ही देना चाहिए.

बता दें कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने अपने फेसबुक वॉल पर लिखा है “सुबह बेतिया से पटना की ओर चला हूं. रास्ते में सेमरा में जनता ने सड़क जाम किया था. उनसे मिलने पर पता चला कि सेमरा में आए दिन चोरी हो रही है और आज जब गांव वालों ने चोर को पकड़ने का प्रयास किया तो वह मोटरसाइकिल छोड़कर भागने में सफल हुआ. तुरकौलिया थाना प्रभारी को फोन किया गया तो उल्टे में वह गांव वालों को धमकाने लगा कि हम आएंगे तो तुम ही लोगों को गिरफ्तार करेंगे.

आगे उन्होंने लिखा कि पूर्वी चंपारण के थानों में बहुत अव्यवस्था हो गई है. रक्सौल से लेकर मोतिहारी तक लगातार अपराध की घटनाएं हो रही हैं और मोतिहारी पुलिस प्रशासन अपराधियों को पकड़ने में अक्षम सिद्ध हो रहा है. रक्सौल हत्याकांड के बारे में भी मैंने बात किया था नतीजा अभी तक नहीं निकला. मैं आज स्वयं डीजीपी से मिलकर पूर्वी चंपारण जिले के कानून व्यवस्था के बारे में बात करूंगा”.