बेऊर मामले के अपराधी तो नहीं पकड़े गए लेकिन एक आरोपी बेल लेने के लिए पहुंच गया कोर्ट

लाइव सिटीज पटना/अमित जायसवाल : बेऊर में प्रोपर्टी डीलर टुनटुन यादव के ऑफिस में 23 अगस्त को हुए गोलीबारी कांड को आज 5 दिन हो गए. लेकिन इस मामले में अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. दिनदहाड़े अंधाधुंध गोली चलाने वाले अपराधी लगातार फरार हैं. अभी तक इनकी पहचान भी नहीं हुई है. इस कांड में 4 लोगों को गोली लगी थी. जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी, जबकि 3 लोग घायल हो गए थे. वहीं पांचवे व्यक्ति को पिस्टल के बट से मारा गया था.

हालांकि पटना पुलिस का दावा है कि उनके एसआईटी की जांच बिल्कुल सही दिशा में चल रही है. लेकिन इस बीच कांड के 4 मुख्य आरोपियों में शामिल फुलवारी शरीफ के करोड़ीचक के दीना यादव उर्फ दीना प्रसाद के पार्टनर संजय यादव उर्फ संजय दिराहा उर्फ संजय राय ने एंटीसिपेटरी बेल के लिए पटना के कोर्ट में पेटिशन फाइल किया है. इस कांड के सभी नामजद आरोपी फरार चल रहे हैं. वो पटना पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं. बावजूद इसके संजय यादव ने पटना सिविल कोर्ट में एसीजेएम-3 के पास एंटीसिपेटरी बेल के लिए अपने एडवोकेट के जरिए पेटिशन फाइल किया. हालांकि इस पर कोर्ट में अभी सुनवाई नहीं हुई है.



एफआईआर करने वाले पर ही उठाये सवाल

बेऊर थाना कांड संख्या 202/2020 के फरार चल रहे आरोपी संजय यादव ने खुद का एंटीसिपेटरी बेल लेने के लिए पेटिशन में एफआईआर पर ही सवाल उठाया है. इसका कहना है कि जब कंप्लेन करने वाला शख्स वारदात के दौरान घटना स्थल पर था ही नहीं तो मेरे ऊपर आरोप कैसे लगा रहा है? अपनी सफाई में संजय यादव ने पेटिशन में लिखा है कि उसे गलत मंशा से फंसाया जा रहा है. उसने तो दीना यादव के पार्टनर होने से भी पल्ला झार लिया है.

साफ लिखा है कि दीना यादव के साथ उसका कोई व्यावसायिक संबंध भी नहीं है. टुनटुन यादव से कोई लेना देना नहीं है. उसकी नजर जमीन पर है, इसलिए वो उसे फंसा रहा है. गौरतलब है कि पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए आरोपी संजय यादव फिलहाल फरार है. एंटीसिपेटरी बेल लेने के लिए पेटिशन में लिखे गए इसके दावे कितने सही हैं, ये तो पटना पुलिस की जांच में ही सामने आयेगा.