नम आंखों से दी गयी मंत्री विनोद सिंह को अंतिम विदाई, बेटी ने दी मुखाग्नि तो रो पड़ा पूरा गांव

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  बिहार सरकार के कैबिनेट मंत्री दिवंगत विनोद सिंह का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन में हो गया. पार्थिव शरीर जैसे ही पैतृक आवास पहुंचा, माहौल गमगीन हो उठा. हर तरफ गम का माहौल था. उनकी पत्नी निशा सिंह एवं उनके दो पुत्री और मां समेत परिवार के सभी सदस्य फूट-फूट कर रोने लगे.

जब मंगलवार की सुबह 7:50 बजे उनके पैतृक गांव कटिहार के मनसाही प्रखंड के बथना गांव लाया गया. उस वक्त यहां लोग गमगीन हो गये. उनके आने की खबर यहां के लोगों को पहले से थी. मंत्री का पार्थिव शरीर तिरंगे में लिपटे हुए एंबुलेंस में पटना से उनके पैतृक गांव लाया गया. जिस एंबुलेंस में पार्थिव शरीर लाया गया. उसके साथ उनके सहयोगी अरुण सिन्हा, सुशील कुमार सिंह, सुमित कुमार व पप्पू कुमार थे.



पार्थिव शरीर जैसे ही गांव पहुंचा. वहां मौजूद जनसैलाब विनोद सिंह के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ पड़ा. मनिहारी के गंगा तट पर राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. छोटी बेटी क्रिस्टी ने उन्हें मुखाग्नि दी. विनोद सिंह को पुलिस जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दी. गांव और गंगा तट पर मंत्री विनोद सिंह अमर रहे के नारे से गूंज उठा.