पंचायती के बीच कर दी थी फायरिंग और रवि के सिर को भेदती हुई बाहर निकल गई गोली

सांकेतिक तस्वीर

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : पटना सिटी के रानीपुर पैजावा इलाके में रविवार को जो कुछ हुआ, किसी ने उसकी कल्पना भी नहीं की होगी. मामूली सी बात को लेकर बवाल इतना ज्यादा हो गया कि हत्या, रोड जाम, आगजनी, पुलिस पर पथराव और फायरिंग तक हो गई. कई घंटों तक नेशनल हाईवे-30 जाम रहा. दोनों ही लेन पर गाड़ियों की लंबी कतार लग गई. सुबह में शुरू हुआ रोड जाम शाम के करीब 4 बजे खत्म हुआ.

पटना पुलिस के टीम को काफी फजीहत झेलनी पड़ी. यह सब कुछ हुआ पूर्व वार्ड पार्षद देवेंद्र सिंह के बेटे रवि की हत्या के बाद. रविवार की सुबह रवि की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वारदात के तुरंत बाद शुरूआत में कई प्रकार की बातें सामने आई. लेकिन अब जो बातें सामने आई हैं, वो चौंकाने वाली है.

यहां से शुरू हुआ विवाद

पूर्व वार्ड पार्षद देवेंद्र सिंह के बेटे ने अपनी बाइक पड़ोसी के दुकान के सामने खड़ी कर दी थी. बाइक हटाने के लिए पड़ोसी के साथ बहस भी हुई. कुछ देर बाद ही पड़ोसी का बेटा नवलख्खा अपनी एसयूवी गाड़ी लेकर वहां आ गया. एसयूवी से बाइक टच कर गई. बाइक को थोड़ा नुकसान भी हुआ. इसके बाद ही दोनों की फैमिली आमने-सामने हो गई. बवाल तो हुआ, लेकिन उसके बाद घर केे बाहर दोनों पक्षों के बीच पंचायती भी होने लगी.

बताया जा रहा है कि रवि के पिता व पूर्व वार्ड पार्षद देवेंद्र, नवलख्खा के पिता से माफी भी मांग रहे थे. लेकिन इसी बीच पड़ोसी के तरफ से एक गोली फायर कर दी गई. जो सीधे रवि के बाएं आंख के उपर लगी और सिर को भेदती हुई बाहर  निकल गई. गोली नवलख्खा ने खुद चलाई या फिर वहां मौजूद उसके साथी ने चलाई, यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है.

एफआईआर में 8 नामजद

गोली लगते ही रवि की मौत मौके पर हो गई. वहीं वारदात के तुरंत बाद नवलख्खा और उसका पूरा परिवार घर छोड़कर फरार हो गया. इसके बाद ही देवेंद्र सिंह के समर्थक व हत्या से गुस्साए लोग सड़क पर उतर आए. नवलख्खा और उसके साथियों की एक-एक कर 5 बाइक में आग लगा दी गई. पुलिस के पहुंचने पर पथराव शुरू हो गया. गोलियां भी चलाई गई.

जवाब में पुलिस ने भी 2-3 राउंड गोली चलाई. हालांकि सुबह से शुरू हुआ हंगामा शाम तक शांत हो गया. इसके लिए पुलिस अधिकारियों को काफी मेहनत करनी पड़ी. सिटी एसपी ईस्ट जितेंद्र कुमार खुद वहां मौजूद थे. इस मामले में पुलिस के सामने नवलख्खा समेत कुल 8 आरोपियों के नाम सामने आए हैं. इन सभी के खिलाफ बायपास थाना में एफआईआर दर्ज किया गया है.

किऊल-झाझा रेलखंड पर टल गया बड़ा हादसा, बेपटरी हुई मालगाड़ी

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*