बाढ़ के बीच सोई हुई है राज्य सरकार, लेकिन बिहार और बिहारी को बचाने लिए जारी रहेगी मेरी लड़ाई- पप्पू यादव

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने दरभंगा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि राज्य में 70 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. लोग डरे-सहमे हुए हैं और सरकार सोई हुई है. वर्तमान सरकार में भ्रष्टाचार इतना व्याप्त है कि उद्घाटन के दिन ही एप्रोच रोड टूट जाता है, लेकिन फिर भी कोई कार्रवाई नहीं होती है. पिछले साल कहलगांव में भी हुआ था. बड़े- बड़े ठेके ऐसे कंपनियों को दिए जाते हैं. जिससे नेताओं ने पहले से साठगांठ की होती है.

आगे उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक पार्टियों ने मिथिला को ठगा है. सपने दिखाए लेकिन पूरा एक भी नहीं हुआ. हम मिथिला में राम राज, अकबर राज और अशोक राज जैसी व्यवस्था चाहते हैं. सभी को आर्थिक आजादी और रोजगार मिले। इसी से गरीबी दूर होगी.



पप्पू यादव ने कहा कि मुझे किसी पद का लोभ नहीं है. मैं मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहता. मेरी लड़ाई सिर्फ बिहार और बिहारी को बचाने की है. मेरी लड़ाई तीस साल बनाम तीन साल है. मैं तीन साल में बिहार को एशिया का नंबर एक राज्य बनाऊंगा.

बाढ़ को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि नीतीश कुमार को पिछले 15 वर्षों में मालूम नहीं चला कि बिहार के किस हिस्से में बाढ़ से तबाही होती है. पहले कभी फरक्का बराज के बारे में नहीं सोचा और अब चुनाव के समय फरक्का बराज की याद आ रही है.

सिंचाई मंत्री संजय झा पर चुटकी लेते हुए पप्पू यादव ने कहा कि एक संजय महाभारत में थे और एक संजय कलयुग में है. कलयुग के संजय ने सरकारी पैसा लूट जनता को बाढ़ में मरने के लिए छोड़ दिया है.

कोरोना वायरस का ज़िक्र करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल की स्थिति बहुत बुरी है. यह सरकार की विफलता का ही परिणाम है कि अब एनडीए के घटक दल ही उन्हें आईना दिखा रहे हैं. रामविलास जी और चिराग पासवान ने स्पष्ट रूप से कहा कि कोरोना और बाढ़ से बिहार बेहाल है.