एनडीए में नहीं थम रहा है तकरार, 15 को लोजपा लेगी बड़ा फैसला! जदयू की दो टूक तो बीजेपी चुप

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  लोजपा और जदयू के बीच अब आर-पार वाली स्थिति हो गई है. दोनों दल एक-दूसरे से पीछा छुड़ाने के मूड में आ गए हैं. लेकिन, बीजेपी की वजह से अब तक कोई बड़ा फैसला नहीं ले सका है. खास बात कि लोजपा और जदयू, दोनों को बीजेपी से मोह है. दोनों ही पार्टियां बीजेपी के संग चुनाव लड़ना चाहती हैं. वहीं, सियासी गलियारे में कहा जा रहा है कि 15 सितंबर को लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान जदयू को लेकर कोई बड़ा फैसला ले सकता है. दूसरी ओर जदयू ने गठबंधन को लेकर कल ही दो टूक सुना दिया था. लेकिन आश्चर्य है कि चिराग के मुद्दे पर बीजेपी बिल्कुल चुप है. कुछ नहीं बोल रही है.

चिराग पासवान की ओर सब लगाए हैं टकटकी



दिल्ली में लोजपा संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद एनडीए में तल्खी बढ़ती जा रही है. पार्टी के नेता व कार्यकर्ता अब अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान की ओर टकटकी लगाए हुए हैं. संसदीय बोर्ड के तमाम सदस्यों ने साफ कर दिया है कि ऐसे में माहौल में जदयू के साथ चुनाव लड़ना ठीक नहीं है. लेकिन इस पर चिराग अब तक कुछ नहीं बोले हैं. बता दें कि उनके पिता रामविलास पासवान ने पहले ही कह दिया है कि जो भी निर्णय होगा, वह चिराग लेंगे. इसी बीच, मंगलवार को सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि आगामी 15 सितंबर को संभवत: चिराग पासवान जदयू के साथ संबंध को लेकर कोई बड़ा निर्णय ले. ज्यादा उम्मीद है कि लोजपा अपना रिश्ता जदयू से तोड़ ले. गौ​रतलब है कि इन दिनों मीडिया में आये लोजपा के विज्ञापन ने बवाल मचा दिया था, जिसमें कहा गया था कि हम बिहार में राज करने के लिए नहीं, बल्कि नाज करने के लिए काम करते हैं.

दिग्गी राजा ने दिया महागठबंधन में आने को न्योता

कांग्रेस के बिहार क्रांति वर्चुअल महासम्मेलन में वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने रामविलास पासवान और चिराग पासवान को महागठबंधन में आने का न्योता दिया है. उन्होंने कहा है कि ईश्वर उन्हें सद्बुद्धि दे और वह बिहार के अवसरवादी और दूसरी सांप्रदायिक ताकतों को हराने के लिए महागठबंधन के साथ आएं. उन्होंने यह भी कहा है कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम का भाजपा से पुराना गठजोड़ है.

आखिर किसके साथ रहेगी बीजेपी

पटना: बिहार के सियासी गलियारे में एक्सपर्ट के बीच बड़ा सवाल उठ रहा रहा है. आखिर बीजेपी किसके साथ जाएगी. लोजपा के साथ बीजेपी मैदान में जाएगी अथवा लोजपा के साथ. कहा जा रहा है कि लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान जिस तरह नीतीश सरकार के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहे हैं, उसके पीछे कहीं-न-कहीं बीजेपी का शह है. हालांकि, जिस तरह से जदयू महासचिव केसी त्यागी ने मंगलवार को दो टूक बयान दिया है, इससे अब गेंद बीजेपी के पाले में आ गई है. गौरतलब है कि केसी त्यागी ने साफ-साफ कह दिया है कि लोजपा के साथ जदयू का कभी भी गठबंधन नहीं रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में जदयू और बीजेपी एक साथ लड़ेगी. हालांकि, बीजेपी तो बार-बार कह रही है कि एनडीए एकजुट है लेकिन चिराग के मुद्दे पर बीजेपी कुछ नहीं बोल रही है.