अगर आपके पास भी है SBI का ऐसा ATM कार्ड तो जल्द बदल लें, बंद होने वाला है

लाइव सिटीज डेस्क : स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया देश का सबसे बड़ा बैंक है. इसके करोड़ों खाताधारक भी हैं. इन सभी खाताधारकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बैंक ने बड़ा फैसला किया है. जिसके तहत अब ऐसे एटीएम कार्ड जिसमें चिप नहीं लगे हैं. उसे बदलवाना पड़ेगा. अब सिर्फ चिप लगे कार्ड ही sbi सबको देगा.एसबीआई ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से यह जानकारी दी है कि वे ग्राहक जिनके पास पुराने मैजिस्ट्रिप (मैग्नेटिक) डेबिट कार्ड हैं, उन्हें जल्द चिप वाले कार्ड से बदलावाना होगा. एसबीआई के मुताबिक, पुराने कार्ड के बदले ग्राहकों को ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड लेना होगा, जो सुरक्षा के लिहाज से बेहतर हैं. इसके लिए साल 2018 की समय सीमा तय की गई है.

अगर ग्राहक डेडलाइन से पहले ऐसा नहीं करेंगे, तो वे एटीएम से ट्रांजेक्शन नहीं कर सकेंगे. दरअसल, ये एटीएम मशीनें पुराने कार्ड को स्वीकार नहीं करेंगी. एसबीआई ने यह भी बताया कि एटीएम कार्ड को बदलने की प्रक्रिया में कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। एसबीआई का हाल ही में 6 अन्य बैंकों के साथ विलय हुआ है और बैंक के ग्राहकों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है.

अगर आप भी ATM से निकालते हैं 10,000 रु. से ज्‍यादा कैश, तो इन 4 बातों का हमेशा रखें ध्यान

ऐसे में इस कदम का असर करोड़ों बैंक ग्राहकों पर पड़ेगा. बता दें कि एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर ग्राहकों के साथ हो रही ठगी के बाद आरबीआई ने पाया था कि मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड पुरानी तकनीक हो चुकी है। और यह सुरक्षित भी नहीं है. इस कारण इन्‍हें बंद किया जा रहा है. इनकी जगह EMV चिप कार्ड को तैयार किए गए हैं. 

वर्तमान में चल रहे मैजिस्ट्रिप (मैग्नेटिक) डेबिट कार्ड 31 दिसंबर से बंद हो जाएंगे. इनके बदले में ग्राहकों को ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड लेना होगा. अगर कोई ग्राहक ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड नहीं लेता है तो वह पुराने कार्ड से कोई काम नहीं कर पाएगा, क्योंकि एटीएम आपके कार्ड को स्वीकार नहीं करेगा.

आधिकारिक ट्वीट में बैंक ने कहा है कि पुराने एटीएम कार्ड बदलकर उनकी जगह ईवीएम चिप वाला डेबिट कार्ड जारी किए जाएंगे. इन कार्डस को पाने के ग्राहकों को ऑनलाइन बैंकिंग से अप्लाई करना होगा. अगर कोई ऐसा नहीं कर पाता तो बैंक की ब्रांच में जाकर अप्लाई कर सकता है. एसबीआई ने फरवरी 2017 से पहले के एटीएम कार्ड को बंद कर दिया है.

About Ranjeet Jha 2694 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*