लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: गोपालगंज से एक बड़ी खबर आ रही है. मच्छर भगाने वाली क्वायल बच्चों के लिए काल बनकर आयी. इस भीषण हादसे में पांच लोग झुलस गये है. जिसमें से तीन बच्चे की मौत हो गयी है जबकि दो की हालत गंभीर बतायी जा रही है.

गोपालगंज शहर के हजियापुर वार्ड नंबर-11 में मच्छर भागने वाली अगरबत्ती के जलने से लगी आग की घटना में पांच लोग जिन्दा झुलस गए. जिसमें तीन बच्चों की जिन्दा जलने से दर्दनाक मौत हो गई. अभी भी दो की हालत चिंताजनक बनी हुई है. मां और अन्य एक बहन भी बुरी तरह से झुलस गई. घटना के बाद पूरे गांव में कोहराम मच गया है.

मिली जानकारी के अनुसार नगर थाना क्षेत्र के हजियापुर मोहल्ले में वार्ड नम्बर-8 दलित बस्ती के निवासी दिनेश मांझी की बहन बेतिया जिले के नौतन थाना के मझवालिया गांव से आई हुई थी. शुक्रवार की रात सुगन्ती देवी पति हरेंद्र रावत अपने बच्चों के साथ एक झोपड़ी में क्वायल जलाकर सो रही थी. इसी दौरान झोपड़ी में क्वायल से आग पकड़ लिया.

आग इतनी फैल गई कि इसमें मां के साथ सभी बच्चे घिर गए. झोपड़ी में सोए सभी बच्चे बुरी तरह से झुलस गए. इसमें 4 वर्षीय जीतन मांझी की मौत मौके पर हो गई. जबकी डेढ़ वर्षीय सुरज अस्पताल आते-आते दम तोड़ दिया. वहीं आज तड़के 6 वर्षीय सनी की भी इलाज के दौरान मौत हो गयी. मनीषा की हालात गंभीर बनी हुई है.

झुलसे हुए सभी लोगों का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है. घटना के बाद सभी वरीय पदाधिकारी मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गए हैं. अस्पताल में लोगों का ताता लगा हुआ है. नगर थाना के एएसआई सुरेश प्रसाद सिंह ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है कि आखिर आग कैसे लगी. जिसमें 5 लोग झुलस गए.