बिहार में आज बह रही है विकास की गंगा, गया में चुनावी रैली में बोले जेपी नड्डा- पहले के दिन को भूल गए क्या ?

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : गया के गांधी मैदान में एनडीए की ओर से चुनावी सभा का आयोजन किया गया. जिसमें बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, जेडीयू सांसद आरसीपी सिंह और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी समेत कई नेता मौजूद रहे.

कोरोना काल में गया में यह पहली रैली थी. जिसको संबोधित करते हुए जेपी नड्डा ने केन्द्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को गिनाया, साथ ही बिना किसी का नाम लिए विपक्ष पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि 2005 से पहले शाम 6 बजे के बाद पटना के डाकबंगला चौराहा पर खड़ा होना मुश्किल होता था. डॉक्टर अपने घर से क्लिनिक के लिए निकलते थे तो उन्हें पता नहीं होता था कि शाम को वापस घर आकर बच्चों से मिल पाएंगे या नहीं. बिहार से कारोबारी डर के मारे भागने लगे थे.



लेकिन आज बिहार में विकास की गंगा बह रही है. पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत के किसानों को आजाद किया है. अब किसानों को जमीन के स्वामीत्व संबंधी पेपर के लिए पटवारी के चक्कर नहीं लगाने होंगे. नड्डा ने लोगों से अपील की कि वे जाति और धर्म के आधार पर नहीं, विकास के आधार पर चुनाव में अपना फैसला लें.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव की संस्कृति बदल दी है. बिहार के विकास के लिए सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली हर क्षेत्र में केंद्र और बिहार की सरकार ने काम किया है. इसके अलावा मोदी सरकार ने आधारभूत संचरना के विकास के लिए 40 हजार करोड़ रुपए का पैकेज अलग से दिया है. अपने संबोधन में नड्डा ने मोदी है तो मुमकिन है का नारा दिया.

जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काम की भी तारीफ करते हुए कहा कि बिहार सरकार ने लॉकडाउन के दौरान राज्य के बाहर फंसे लोगों को आर्थिक मदद पहुंचाई. जो की बहुत बड़ी बात है.