बिहार के इन 9 जिलों में बनेंगे यातायात थाने, चेक कीजिए आपका शहर है या नहीं

लाइव सिटीज डेस्क : ट्रैफिक की समस्या इन दिनों खूब बढ़ गई हैं. बिहार सरकार इसके लिए काफी गंभीर है. यातायात सुचारू रूप से चले इसके लिए राज्य सरकार ने ठोस निर्णय लिए हैं. सोमवार को हुई कैबिनेट बैठक में यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए बड़े फैसले किये गए हैं. अब राज्य के नौ शहरों में यातायात थाना बनाने की बात कही गई है. बता दें कि राज्य के नौ शहरों में यातायात थाना बनेंगे. इसके संचालन के लिए विभिन्न कोटि के 1485 पदों के सृजन की स्वीकृति कैबिनेट ने दी. मुजफ्फरपुर, बिहारशरीफ, पूर्णिया, आरा, बेगूसराय, कटिहार, छपरा और मुंगेर में यातायात थाने स्थापित किए जाएंगे.  पहली-पहली बार इस शहर में लगाया गया था इलेक्ट्रिक ट्रैफिक लाइट

बता दें कि शहर की आबादी, गाड़ियों की संख्या, शहर के विस्तार आदि को देखते हुए सरकार ने यातायात थाना खोलने के लिए पुलिस अधीक्षक से प्रस्ताव मांगी गई थी. प्रस्ताव के आलोक में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं यातायात प्रभारी द्वारा आबादी, वाहनों की संख्या आदि के आधार पर एक प्रस्ताव समर्पित किया था. जिसमें पोस्ट बनाने, थाना में अधिकारी व जवानों की संख्या की भी चर्चा की गयी थी. यह प्रस्ताव मुख्यालय को एसपी के माध्यम से भेजा गया था जिस आधार पर आगे की कार्रवाई की गई. सो, सोमवार को हुई बैठक में यह तय कर लिया गया है कि बिहार में पहले चरण में 9 जिलों में यातायात थाना खुलेंगे.



बता दें कि अब तक यातायात व्यवस्था को लेकर शहरी क्षेत्र के चौक-चौराहों पर पुलिस बलों की संख्या में वृद्धि की गई है. इस कार्य में महिला जवानों को भी काफी संख्या में लगाया गया है. ये जवान वैसे पूरी तरह यातायात के नियम तो नहीं जानते हैं परंतु जाम लगने पर जाम हटाने में कारगर साबित हो रहे हैं. महिला जवानों द्वारा भी वाहन सड़क पर देखकर संबंधित को हटाने का आग्रह किया जाता है. वैसे संकेतक व लाइट व सड़क सकरी रहने के कारण पुलिस बलों को यातायात व्यवस्थित करने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है.