जब तक देश के सभी लोगों को टीका नहीं मिल जाता तब तक जाप का कोई सदस्य टीका नहीं लेगा- पप्पू यादव

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : जाप अध्यक्ष पप्पू यादव ने एलान कर दिया कि वो बीजेपी वाली कोरोना वैक्सीन नहीं लेंगे. उन्होंने बीजेपी सरकार पर वैक्सीन का राजनीतिक करने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि वैक्सीन का अविष्कार हमारे देश के वैज्ञानिकों ने किया है, ना की बीजेपी वालों ने किया है. लेकिन बीजेपी वैक्सीन को अपने राजनीतिक एजेंडे के तहत प्रचार प्रसार कर रही है.

पप्पू यादव ने कहा कि जब तक देश के सभी लोगों को टीका नहीं मिल जाता तब तक जाप का कोई सदस्य टीका नहीं लेगा. उन्होंने कहा कि सरकार ने पहले बोला था कि सभी को टीके देंगे और अब एक से दो करोड़ पर आ गए हैं. बीजेपी बिहार के 13 करोड़ लोगों को टीके देने का अपना चुनावी वादा पूरा करे. जब तक देश के सभी लोगों को टीका नहीं लग जाता तब तक जाप का कोई सदस्य वैक्सीन नहीं लेगा.



पप्पू यादव ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ लव जिहाद कानून से समाज में नफरत फैला रहे हैं. प्रेम का राजनीतिकरण किया जा रहा है. जिन नेताओं ने प्रेम विवाह किया है, पहले उन पर केस किया जाना चाहिए. इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह कुशवाहा, राजू दानवीर सहित पार्टी के अन्य मौजूद रहें.

वहीं तीन कृषि कानूनों के विरोध और किसानों के समर्थन में जन अधिकार पार्टी (लो) 5 जनवरी से किसान-मजदूर रोजगार यात्रा की शुरुआत करेगी. इसकी शुरुआत बाबू वीर कुंवर सिंह जी की धरती से होगी. साथ ही 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती के मौके पर राज भवन मार्च निकाला जाएगा और 26 जनवरी को युवा परिषद् के द्वारा हर जिले में किसान विरोधी सरकार के खिलाफ ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी. यह बातें जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कही. वे उत्तरी मंदिरी स्थित पार्टी कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे.

पप्पू यादव ने कहा कि किसान-मजदूर रोजगार यात्रा के दौरान हम बिहार के किसानों को यह बताएंगे कि यदि देश में कहीं किसानों की सबसे ज्यादा बुरी स्थिति है तो वो है बिहार. राज्य के 40 फीसदी किसान बिना जमीन के हैं. अधिकतर किसान कर्ज के बोझ तले दबे हुए हैं और सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ रहा. यह यात्रा मार्च के महीने में गाँधी मैदान में खत्म होगी.

दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों के बारे में बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि ये लड़ाई जो किसानों ने शुरू की उसे पूरे देश की जनता का समर्थन मिल रहा है. अगर जरूरत पड़ी तो हम ट्रैक्टर लेकर सिंघु बॉर्डर भी कूच करेंगे.

केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा कि नरेंद्र मोदी जी ने कहा था कि तीन महीने में ब्लैक मनी वापस देश में ले आऊंगा लेकिन सात साल भी कुछ नहीं आया. सभी को 15-15 लाख रुपए देने के लिए 2 महीने का समय मांगा था लेकिन किसी को एक पैसा भी नहीं मिला. नोटबंदी में कहा था कि एक महीने के अन्दर सभी चींजे व्यवस्थित हो जाएगी और जीएसटी के समय 21 दिन माँगा था, लेकिन आज तक चींजे व्यवस्थित नहीं हुई. कोरोनावायरस में एक महीना कहा लेकिन कुछ नहीं हुआ. अब बोल रहे हैं कि एमएसपी है और रहेगा लेकिन कानून नहीं बनाएंगे. केंद्र सरकार पर भरोसा नहीं किया जा सकता है. एमएसपी पर बिना कानून बनाए और बिना कृषि कानून वापस लिए, हम पीछे नहीं हटेंगे.