सीतामढ़ी के बाजपट्टी में उपेन्द्र कुशवाहा ने की चुनावी सभा, लालू-राबड़ी समेत नीतीश कुमार पर बोला हमला

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : सीतामढ़ी जिले के बाजपट्टी में ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्यूलर फ्रंट गठबंधन के सीएम कैंडिडेट व रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने चुनावी सभा की. इस दौरान उन्होंने पार्टी प्रत्याशी रेखा गुप्ता को जीताने की लोगों से अपील की. साथ ही चुनावी सभा को संबोधित करते हुए लालू-राबड़ी समेत नीतीश सरकार पर हमला बोला.

उन्होंने कहा कि 30 साल में दोनों ने बिहार को बर्बाद करने का काम किया. 1990 से 2005 तक जिनके हाथों में बिहार की बागडोर थी, उन्होंने प्रदेश का विकास करने के बजाए सिर्फ अपना विकास किया. लोग डर के मारे बिहार से पलायन करने लगे. लॉ एंड ऑर्डर पूरी तरह ध्वस्त हो गयी थी. लोग इससे निजात पाना चाहते थे.



जंगलराज से निजात दिलाने के लिए हम लोगों ने नीतीश कुमार की सरकार बनाने में मदद किया. 2005 के बाद स्थिति में सुधार होने की लोग आस देखने लगे. लेकिन उन्हें निराश हाथ लगी. बिहार को विकसित राज्य बनाने का नीतीश कुमार ने दावा तो किया लेकिन उसे पूरा नहीं किया गया. शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार जैसे मुद्दों पर सरकार पूरी तरह विफल रही. चारा घोटाले की तरह सृजन घोटाले हुए.

आगे उन्होंने कहा कि क्यों नहीं 2005 के बाद बिहार में केन्द्रीय विद्यालय की तरह राज्य के स्कूलों में पढ़ाई होती है. क्यों दिल्ली एम्स की तरह बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में लोगों को इलाज होता है. लोग आज भी अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए तरसते हैं.

कुशवाहा ने सीएम नीतीश कुमार को चुनौती देते हुए कहा कि राज्य को कोई भी एक स्कूल का नाम बताएं जिसकों उन्होंने रोल मॉडल बनाने का काम किया हो. विकास करने के लिए 15 साल कम नहीं होता है. आज भी शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिए पलायन कर रहे हैं.

नीतीश कुमार लाख दावे कर ले, कि बिहार के नौजवान रोजगार के लिए अब दूसरे प्रदेशों की ओर लोग रूख नहीं कर रहे हैं. लेकिन कोरोना काल में उनके दावों की पोल खुल गयी. लाखों-लाख बिहार के लोग पैदल प्रदेश आए तो पता चला कि वो रोजगार के लिए बिहार से बाहर गए थे. आखिर क्यों नहीं बिहार में रोजगार का अवसर उत्पन्न किया गया.

उपेन्द्र कुशवाहा ने जनता के ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्यूलर फ्रंट अलायंस को एक मौका देने की अपील करते हुए कहा कि आप लोगों ने 15-15 साल दोनों को देकर देख लिया. अब एक मौका हमलोगों के अलायंस को देकर देखिए. बिहार विकसीत राज्य बनेगा. शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिए यहां के लोग और युवाओं को बाहर नहीं जाना पड़ेगा.