‘नीतीश कुमार के पास ना कोई नीति है ना ही कोई सिद्धांत’, हसनपुर की जनता से तेजस्वी ने कहा- मेरी सरकार आने पर हर सपने होंगे पूरे…

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : समस्तीपुर के हसनपुर में तेजस्वी यादव ने चुनावी सभा की. इस दौरान उन्होंने अपने बड़े भाई व आरजेडी प्रत्याशी तेज प्रताप यादव को लोगों से जीताने की अपील की. सभा को संबोधित करते हुए तेजस्वी ने कहा कि हमारी सरकार बनते ही हसनपुर की समस्या को दूर किया जाएगा. चिरपरिचित सड़क, डिग्री कॉलेज और स्टेडियम और हसनपुर को जिला बनाने की मांग को पूरा किया जाएगा.

तेजस्वी ने अपने आप को ठेठ बिहार बताते हुए बीजेपी-जेडीयू पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने 15 सालों में बिहार में पढ़ाई, दवाई, कमाई और सिंचाई की जरूरतों को पूरा नहीं कर पाए. हमलोगों नई सोच के है, नया बिहार बनाना है, बिहार को ऊंचाईयों पर ले जाना है. महागठबंधन की सरकार बनते ही पढ़ाई, दवाई, कमाई और सिंचाई की व्यवस्था की जाएगी.



उन्होंने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस सरकार में 60-60 घोटाले हुए हैं. लेकिन किसी पर सुनवाई नहीं हुई. महंगाई आसमान छूता जा रहा है. प्याज और आलू का दाम लोगों की पहुंच से बाहर हो चुका है. कोरोना काल में सरकार की ओर से किसी को मदद तक नहीं पहुंचायी गयी. लोग हजारों किलोमीटर भूखे, प्यासे चलकर बिहार आए लेकिन फिर रोजगार की तलाश में दूसरे प्रदेश जा रहे हैं. लेकिन इनकी सुधी नहीं ली जा रही है.

तेजस्वी ने मंच से कहा कि हमने प्रण लिया है कि पहले मंत्रिमंडल की बैठक में मेरा पहला हस्ताक्षर 10 लाख सरकारी नौकरी के लिए होगा. बिहार के युवाओं की समस्या प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नहीं दिखता है. वो लोग हमें और हमारे परिवार को गाली देने में लगे हुए हैं. लेकिन मैं अपने से बड़ों की बातों का बुरा नहीं मानता हूं.

नीतीश कुमार जी मुझसे बड़े हैं. मेरे संस्कार में बड़ों का अनादर करना नहीं सिखलाया गया है. हमें बचपन से सिखाया गया है बड़ों का आदर करना चाहिए. उनके पास ना तो कोई नीति है ना ही कोई सिद्धांत है. नीतीश कुमार जी का पहला प्यार कुर्सी है. इसके लिए वो कुछ भी करेंगे.

महागठबंधन की सरकार बनते ही आंगनबाड़ी, जीविका दीदी, विकास मित्र की सेवा को नियमित किया जाएगा. इसकी घोषणा करते हुए तेजस्वी ने कहा कि नियोजित शिक्षकों की मांग समान काम, समान वेतन को पूरा किया जाएगा. बुजुर्गो के पेंशन को 400 से बढ़ाकर 1000 किया जाएगा. लोगों को पक्का मकान बनाकर दिया जाएगा. समाज के सभी वर्ग के लोगों को साथ लेकर चलने का काम किया जाएगा.