पीके की राजनीति पर कुशवाहा को भरोसा, कहा – बिहार को बदलेंगे प्रशांत

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: देश के जानेमाने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर दिल्ली में केजरीवाल सरकार बना कर आज मंगलवार को बिहार लौटे. पटना में प्रेस कॉन्फ्रेस कर अपने पुराने साथी नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. इसके साथ ही उन्होंने बिहार की राजनीति में प्रत्यक्ष रूप से इंट्री मारी. उन्होंने ‘बात बिहार की’ कार्यक्रम पूरे बिहार में चलाने की बात कही. पटना पहुंचते ही पीके को लुभाने और अपने पाले में लाने की कोशिश विपक्षी पार्टियों ने शुरू कर दी है.

रालोसपा अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने ट्वीट कर कहा कि पीके ने समस्त बिहार वासियों खासकर युवाओं की भवनाओं को व्यक्त किया है. बिहार अब पीछे नहीं, भविष्य की ओर प्रस्थान करने का आकांक्षी है. जाहिर है नीतीश कुमार ने 15 वर्षों में बिहार को पूर्ण रूप से निराश कर दिया है. अतएव पीके की रणनीति बिहार में बदलाव का वाहक बनेगा. कुशवाहा के बयान से यह साफ़ जाहिर हो रहा है कि पीके की रणनीति में वो भी शामिल होना चाहते हैं.

इसके साथ ही राजद के वरिष्ठ नेता तनवीर हसन ने कहा कि ‘बात बिहार की’ करूं तो कुछ यूं है कि : जो शख्स सवाल पूछता है नीतीश कुमार उसे ब्लाक कर देते हैं. लेकिन इसबार बिहार विधानसभा चुनाव में जनता उन्हें सीएम की कुर्सी से ब्लाक करेगी तैयार रहिए अनैतिक बाबू.