जीडीएसएफ प्रत्याशियों के लिए उपेन्द्र कुशवाहा ने मांगा वोट, बड़े और मंझले भाई के 30 साल के शासनकाल पर किया कटाक्ष

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  वैशाली जिले के महुआ और राजापाकर विधानसभा क्षेत्र में ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट समर्थित प्रत्याशियों के पक्ष में उपेन्द्र कुशवाहा ने चुनावी सभा की. इस दौरान उनहोंने लोगों से जीडीएसएफ के उम्मीदवार को जीताने की अपील किया. साथ ही महागठबंधन और एनडीए गठबंधन पर हमला बोला.

रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बड़े भाई तथा मंझले भाई के शासनकाल में विकास का काम पूर्ण रूप से नहीं हो पाया है. यदि छोटे भाई को 5 साल के लिए आप लोग सरकार बनाने का मौका देते हैं तो निश्चित रूप से गरीब परिवार के बच्चों को विशेष शिक्षा तथा युवाओं को रोजगार एवं किसानों को कृषि कार्य करने के लिए व्यवस्था एवं मजदूरों को सही रूप से रोजगार मुहैया कराऊंगा.



लालू-राबड़ी 15 साल और नीतीश कुमार के 15 साल के शासनकाल का जिक्र करते हुए कुशवाहा ने कहा कि पति-पत्नी के सरकार में लूट, हत्या बलात्कार तथा घोटाले पर घोटाले हुए. बिहार के लोग भय के साये में जीने को मजबूर रहे. उनसे छुटकारा दिलाने के लिए हमलोगों ने सुशासन की सरकार लाया. लेकिन सुशासन के सरकार में अच्छे दिन लाने की बात किया जाता है, लेकिन युवाओं को अभी तक रोजगार मुहैया नहीं कराया गया है. जिसके कारण बिहार की स्थिति पूर्ण रूप से बदहाल दिख रही है.

आज भी गरीब के बच्चों को अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य सुविधा मयस्सर नहीं हो रहा है. 15 साल में बिहार के सरकारी स्कूलों की दशा ना बदली है और ना ही बदलने की कोशिश हुई है. स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी विकास के दावे किए गए लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है. लोगों को महंगी शिक्षा और महंगा इलाज कराने को विवश रहना पड़ता है.