बिहार की 55 जेलों में एक साथ रेड, चिलम वाले वीडियो ने उड़ाई प्रशासन की नींद

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क :  चिलम वाले वायरल हो रहे वीडियो ने पुलिस प्रशासन की ऐसी नींद उड़ाई कि बिहार की सभी 55 जेलों में मंगलवार को एक साथ रेड की गई. भोरे-भोरे जेलों में अचानक पड़े छापे ने प्रशासनिक गलियारे में हलचल मचा दी. राजधानी पटना ही नहीं, मुजफ्फरपुर, खगड़िया, भागलपुर, सिवान समेत पूरे बिहार में छापेमारी की गई. इस संबंध में जेल आइजी मिथिलेश मिश्र ने बताया कि गृह विभाग के निेदेश पर 55 जेलों में एक साथ छापेमारी की गई. कई जेलों में तो कुछ हाथ नहीं लगा, लेकिन कुछ जेलों में गांजा, मोबाइल, चाकू, ब्लेड आदि की बरामदगी हुई है.

भभुआ मंडल कारा में छापा

दरअसल, दो दो दिन पहले पटना की बेउर जेल के भीतर चिलम से कश लगाते कैदियों का वीडियो वायरल हुआ था. इसके बाद प्रशासन की नींद उड़ गई. इसे गृह विभाग ने गंभीरता से लिया. इसके बाद जेलों में छापेमारी को लेकर बिहार के होम डिपार्टमेंट की तरफ से आदेश जारी किया गया. आदेश मिलते ही आज सुबह 5 बजे के करीब पटना समेत तमाम जिलों में जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारी एक टीम बनाकर जेलों में गए व छापेमारी की. अचानक हुए इस छापेमारी से जेल में कैद कैदियों के बीच अफरा-तफरी मच गई थी. जेल प्रशासन के अनुसार 95 परसेंट प्रतिशत जेलों में छापेमारी के दौरान कुछ भी नहीं मिला है.



मंगलवार की सुबह जब पुलिस व प्रशासन की संयुक्त टीम ने जेलों में धावा बोला तो उस समय वहां मौजूद कैदी गहरी नींद में सो रहे थे. उनके उठने का समय होने ही वाला था. ऐसे में टीम ने रणनीति के तहत सबों को बिस्तर पर ही घेर लिया. खगड़िया मंडल कारा में डीएम के नेतृत्व में छापेमारी की गई तो वहां से खैनी की कुछ पुड़िया, चार चिलम और एक छोटी कैंची बरामद की गई. डीएसपी सहित कई थानों की पुलिस भी छापेमारी में शामिल थी.

इसके अलावा पटना के फुलवारी शरीफ जेल को छोड़कर बेउर जेल, दानापुर, मसौढ़ी, पटना सिटी और बाढ़ जेलों को पूरी तरह से खंगाला गया. हर जेल में एक-एक कर कैदियों की जांच की गई. बताया जाता है कि छापेमारी के दौरान सुपौल में एक पुराना चार्जर बरामद किया गया है. दूसरी ओर मुजफ्फरपुर में जिलाधिकारी और एसएसपी ने संयुक्त रूप से खुदीराम बोस केंद्रीय कारा में छापेमारी की, जिसमें एक सिम कार्ड, 14 पुड़िया गांजा, दो छोटे चाकू मिले हैं.