समस्तीपुर : शुरु हुआ विद्यापति राजकीय महोत्सव, विधानसभा अध्यक्ष ने किया उद्घाटन

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के समस्तीपुर जिले में रविवार को विद्यापति राजकीय महोत्सव की शुरुआत हो गई. विद्यापति नगर प्रखंड के विद्यापति धाम परिसर में सातवें विद्यापति राजकीय महोत्सव की शुरुआत बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी और संस्कृति विभाग के मंत्री प्रमोद कुमार ने किया.  ये महोत्सव 10 नवंबर से 12 नवंबर तक चलेगा.

इस मौके पर नेताओं ने महाकवि विद्यापति के जीवन पर आधारित पुस्तक का भी विमोचन किया. कार्यक्रम में बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी और संस्कृति विभाग के मंत्री प्रमोद कुमार के अलावा राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर भी मौजूद थे.

महाकवि का जीवन-दर्शन बहुत कुछ सिखाता है

विद्यापति राजकीय महोत्सव को संबोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने विद्यापति के जीवन-दर्शन से सीख लेने की बात कही. उन्होंने कहा कि महाकवि का जीवन-दर्शन हमें काफी कुछ सिखाता है. इस दर्शन को हम लोगों को अपने जीवन में आत्मसात करना चाहिए. विद्यापति की रचनाओं का जिक्र करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि मैथिल कोकिल विद्यापति की रचना सभी क्षेत्र में प्रासंगिक और प्रशंसनीय है. विजय कुमार चौधरी ने इस मौके पर विद्यापति की रचनाओं को उद्धृत करते हुए लोगों को उनके व्यक्तित्व और कृतित्व के बारे में बताया.

विद्यापति नगर प्रखंड में लंबे समय से महाकवि विद्यापति के नाम पर महोत्सव का आयोजन किया जाता रहा है. वर्ष 2013 में राज्य सरकार ने यहां होने वाले समारोह को राजकीय महोत्सव का दर्जा दिया. इसके बाद से लगातार यह कार्यक्रम पूरे उत्साह के साथ हर साल मनाया जा रहा है.

2013 से हो रहा है आयोजन

पौराणिक कथाओं के अनुसार महाकवि विद्यापति की भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान शिव उनके यहां ‘उगना’ नाम से सेवक बनकर आए थे. कालांतर में जब एक दिन उगना अचानक गायब हो गए, तो विद्यापति उनकी तलाश में विद्यापति धाम तक आ पहुंचे. कहा जाता है कि मां गंगा ने भी महाकवि की भक्ति से प्रभावित होकर उन्हें दर्शन दिया था. महाकवि ने गंगा के दर्शन के बाद अपने शरीर का त्याग कर दिया, तभी से समस्तीपुर के विद्यापति धाम की ख्याति है. इसी उपलक्ष्य में यहां हर साल महोत्सव का आयोजन किया जाता है.

सीएम नीतीश ने फुलवारीशरीफ ख़ानक़ाह में की चादरपोशी, सूबे की तरक्की के लिए मांगी दुआएं