भारत छोड़ने से पहले जेटली से मिले थे माल्या, तेजस्वी बोले- भगौड़ों को मिला मोदी सरकार का साथ

लाइव सिटीज डेस्क : भारत का आर्थिक अपराधी और भगौड़ा विजय माल्या ने आज बड़ा बयान देकर सियासी तूफ़ान खड़ा कर दिया है. माल्या ने दावा किया है कि वे भारत छोड़ने से पहले केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात भी की थी. उनके इस बयान के बाद कई सवाल उठने लगे हैं. विपक्ष का मोदी सरकार पर बड़ा हमला शुरू हो गया है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी इस मामले पर मोदी सरकार को घेरा है.

दरअसल, आज लंदन में वेस्टमिन्स्टर मजिस्ट्रेट की अदालत के बाहर उन्होंने कहा, ”मैंने पूरे मामले को सुलझाने के लिए भारत छोड़ने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की थी. मैं बैंकों का बकाया कर्ज चुकाने के लिए तैयार था, लेकिन बैंकों ने मेरे सेटलमेंट को लेकर सवाल खड़े किए.” इसके अलावा विजय माल्या ने देश का 9000 करोड़ रुपये लेकर भागने को लेकर भी बातें कहीं. माल्या ने कोर्ट के बाहर पत्रकारों से कहा, “मैं देश छोड़कर तब इसलिए गया था, क्योंकि मुझे जेनेवा में एक बैठक में जाना था. जाने से पहले मैं वित्त मंत्री से मिला था. मैंने बैंकों से मामला सलटाने की बात दोहराई थी. यही सच है. kidney transplant, अरुण जेटली, central minister, surgery, देश-विदेश, बिग न्यूज़, हिंदी समाचार, न्यूज़, daily news, news updates

माल्या के इस बड़े बयान पर अरुण जेटली भी सामने आये. उन्होंने ट्वीट कर माल्या की बातों का खंडन किया. उन्होंने कहा, “माल्या का बयान गलत है. साल 2014 के बाद से मैंने उन्हें मिलने का वक्त ही नहीं दिया. ऐसे उनसे मेरे मिलने का सवाल ही पैदा नहीं होता है.”
अरुण जेटली ने बताया कि राज्यसभा के सदस्य होने के नाते माल्या कभी-कभी सदन की कार्यवाही में हिस्सा भी लेता था. वित्त मंत्री ने लिखा है, “उसने एक बार इस विशेषाधिकार का गलत फायदा उठाया और जब मैं सदन से निकल कर अपने कमरे की तरफ बढ़ रहा था तो वह तेजी से पीछा कर मेरे पास आ गया. चलते-चलते उसने कहा कि उसके पास कर्ज के समाधान की एक योजना है.”

जेटली ने कहा, “उसकी पहले की ऐसी ‘झूठी पेशकश’ के बारे में पहले से पूरी तरह अवगत होने के कारण उसे बातचीत आगे बढ़ाने का मौका नहीं देते हुए मैंने कहा कि ‘मुझसे बात करने का कोई फायदा नहीं है और उसे अपनी बात बैंकों के सामने रखनी चाहिए.” तेजस्वी यादव ने माल्या-जेटली की मुलाकात पर जोरदार हमला किया. तेजस्वी ने कहा कि मोदी सरकार घोटालेबाजों और भगोड़ों के साथ हाथ मिलाए हुए है. उन्होंने मिलकर हजारों करोड़ के लूट की साजिश रची. पीएम और वित्तमंत्री को इसका जवाब देना चाहिए.

मेहमानों की तरह मुंबई की जेल में रहेंगे विजय माल्या, बैरक में होगी 5 स्टार होटल जैसी सुविधा

विजय माल्या के दावों के बाद कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) ने भी मोदी सरकार पर करारा वार किया है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अरुण जेटली को जनता के बीच जवाब देना होगा. आखिर इस मुलाकात को क्यों छुपाए हुए थे. कांग्रेस ने माल्या, पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी का जिक्र करते हुए कहा कि भगौड़ो का साथ, लुटेरों का विकास बीजेपी का एकमात्र लक्ष्य है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*