‘विकास के लिए एनडीए को करें वोट’, पटना के वेटनरी ग्राउंड से पीएम मोदी ने आरजेडी पर खूब साधा निशाना

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : पटना के वेटनरी कॉलेज में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विशाल जनसभा को संबोधित किया. विशाल जनसभा में मौजूद लोगों को पीएम मोदी ने मगही भाषा में बोलकर स्वागत किया. जिस पर लोगों ने खूब तालियां बचायी.

संबोधन भाषण की शुरूआत करते हुए उन्होंने कहा कि बीते डेढ़ दशकों में नीतीश जी की अगुवाई में बिहार ने कुशासन से सुशासन की तरफ कदम बढ़ाए हैं. NDA सरकार के प्रयासों के कारण बिहार ने, असुविधा से सुविधा की ओर, अंधेरे से उजाले की ओर, अविश्वास से विश्वास की ओर, अपहरण उद्योग से अवसरों की ओर का एक लंबा सफर तय किया है.



उन्होंने कहा कि बिहार के गरीब की आकांक्षा, बिहार के मध्यम वर्ग की आकांक्षा कौन पूरी कर सकता है? वो लोग जिन्होंने बिहार को बीमार बनाया, बिहार को लूटा, क्या वो ये काम कर सकते हैं? बिहार में IT हब बनने की पूरी संभावना है. यहां पटना में भी IT की बड़ी कंपनी ने अपना ऑफिस खोला है. सिर्फ ऑफिस ही नहीं खुला है, बिहार के नौजवानों के लिए नए अवसर भी खुले हैं.

मैं पटना के लोगों से जानना चाहता हूं, क्या जंगलराज में बिहार आईटी हब बनने का सपना देख सकता था? क्या ‘जंगलराज के युवराज’ बिहार को IT के क्षेत्र में, या आधुनिकता के किसी भी क्षेत्र में आगे ले जा सकते हैं. एनडीए के विकास को देखकर युवाओं में आकांक्षा बढ़ी है. पहले रिंग रोड बनाया गया. फिर मेट्रो पर काम चल रहा है. इसके आगे भी विकास का काम जारी है.

पीएम मोदी ने लोजपा को लेकर मंच से स्थिति को स्पष्ट कर दिया. उन्होंने कहा कि एडीए का मतलब है बीजेपी, जेडीयू, हम और वीआईपी पार्टी. इनके प्रत्याशी को जीताकर एक बार फिर एनडीए की सरकार बनानी है. और विकास की रफ्तार को आगे बढ़ाना है.

वहीं तेजस्वी के 10 लाख सरकारी नौकरी देने के वादे पर पलटवार करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ये लोग नौकरी देने को व्यापार समझते हैं. इनके आने के बाद सरकारी नौकरी तो दूर प्राइवेट नौकरी भी लोगों के हाथ छिन जाएगी. ये वहीं लोग है जिन्होंने बिहार में जंगलराज लाने का काम किया. प्रदेश से पलायन होने लगा.