‘हमें गरीबों की चिंता है, जंगलराज वालों को अपनी तिजोरी की फिक्र है’, मोतिहारी में विरोधियों पर खूब बरसे नरेन्द्र मोदी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क:  दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार का आज आखिरी दिन है. आखिरी दिन सभी दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. बीजेपी के सबसे बड़े स्टार प्रचारक व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक के बाद एक चार-चार रैलियां कर चुनावी बयार को एनडीए के पक्ष में करने के लिए बिहार दौरे पर है. पहले छपरा, फिर समस्तीपुर और इसके बाद मोतिहारी में पीएम मोदी ने विशाल जनसभा को संबोधित किया.  

मोतिहारी में जनसभा को संबोधित करते हुए नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जंगलराज की हालत तो ये थी कि जो उद्योग, जो चीनी मिले, दशकों से चंपारण और बिहार का अहम हिस्सा रही हैं, वो भी बंद हो गईं. अब तो इस चुनाव में जंगलराज वालों के साथ नक्सलवाद के समर्थक, देश के टुकड़े-टुकड़े करने की चाहत रखने वालो के समर्थक भी शामिल हो गए हैं.



एनडीए का प्रयास है कि हम बिहार के अपने गरीब भाइयों बहनों को ज्यादा से ज्यादा पक्के घर कैसे दे सकें. जंगलराज वालों को चिंता है कि अपनी तिजोरी कैसे भरें. हमारी प्राथमिकता है कि बिहार के किसानों को, श्रमिकों को, बुजुर्गों को पैसे सीधे उनके बैंक खाते में डाल सकें.

उन्होंने कहा कि बिहार की महिलाएं, माताएं-बहनें खुले में शौच में जाने के लिए मजबूर थीं, उनकी सुरक्षा पर खतरा रहता था, लेकिन जंगलराज वाले, जंगल जैसे हालात बनाए रखना चाहते थे. एनडीए की सरकार ने बिहार की माताओं-बहनों के लिए लाखों शौचालय बनाकर उनकी परेशानी कम करने का प्रयास किया है.

पीएम मोदी ने कहा, जंगलराज वालों ने अगर कभी आपकी चिंता की होती तो बिहार विकास की दौड़ में इतना पिछड़ता नहीं. सच्चाई ये है कि इन्हें न पहले आपकी चिंता थी और न ही आज है. इनकी चिंता कुछ और है. जंगलराज वालों को चिंता है कि अपनी बेनामी संपत्ति कैसे छिपाएं.

उन्होंने कहा कि जंगलराज का अंधेरा बिहार पीछे छोड़ चुका है, अब नई रोशनी में डबल इंजन की ताकत के साथ विकास का लाभ हमें बिहार के हर व्यक्ति तक पहुंचाना है. आत्मनिर्भर बिहार, यहां के हर युवा की आकांक्षाओं को पूरा करने का रोडमैप है. आत्मनिर्भर बिहार, यहां के गांव-गांव के सामर्थ्य को पहचान दिलाने का मार्ग है.आत्मनिर्भर बिहार, बिहार के गौरव, बिहार के वैभव को फिर से लौटाने का मिशन है.

पीएम मोदी ने कहा, यह जो दिल्ली में पोलिटिकल पंडित बैठे है वह एक बार इस नज़ारे को देख ले समझ जाएंगे की 10 तरीक को क्या होने वाला है. पहले उछल उच्छल कर बोल रहे थे की वोट बहुत कम होगा. कोरोना के कारण कोई बाहर नहीं आएगा. बिहार का व्यक्ति चुनाव का महत्व जानता है.

नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर दोहराया कि नीतीश जी की अगुवाई में फिर सरकार बनेगी. उन्होंने कहा कि देश में स्वामित्व योजना शुरू की गई है. यह योजना जल्द ही बिहार में लागू होगी. आत्मनिर्भर बिहार के लिए भी तेजी से काम हो रहा है. पूरे देश के लिए एक ही राशन कार्ड बनाया जा रहा है.

नरेनद्र मोदी ने सवाल दागा कि कोरोना काल में ये लोग कहां थे? इन लोगों को सिर्फ अपने परिवार के विकास से मतलब है. यही इनकी सच्चाई है और ट्रेनिंग भी. कहा कि जंगलराज वालों को यह चिंता है कि लालटेन कैसे जले, लेकिन मेरी चिंता है कि घर-घर में एलइडी की रोशनी कैसे पहुंचाई जाए. उन्होंने कहा कि हमने घर-घर शौचालय बनवाया. चुनाव में बिहार को सतर्क रहने की जरूरत है.