‘हम प्रचार नहीं करते, काम करते हैं’ समस्तीपुर के विभूतिपुर में सीएम नीतीश ने लालू-राबड़ी शासनकाल की बखियां उधेड़ कर रख दी…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : समस्तीपुर के विभूतिपुर में सीएम नीतीश ने चुनावी सभा की. इस दौरान उन्होंने जेडीयू प्रत्याशी राम बालक सिंह को लोगों से जीताने का आग्रह किया. सभा को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश ने केन्द्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को गिनाया. साथ ही विपक्ष पर करारा हमला बोला.

वगैर नाम लिए विरोधियों पर हमला बोलते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि हम प्रचार प्रसार में नहीं करते, हम काम करते हैं. जिसका परिणाम दिखने लगा है. स्वयं सहायता समूह बनाकर महिलाओं को जागरूक करने काम किया गया. समाज को आगे बढ़ा रहे हैं हमलोग. क्या हाल था पहले सड़कों का, कानून व्यवस्था कितनी बुरी थी, अपराध कितने होते थे, नरसंहार कितने होते थे, अपहरण कितने होते थे. सब चीजों पर हम लोगों ने कंट्रोल किया.



हम लोगों के काम के कारण अपराध के मामले में बिहार अब 23वें स्थान पर आ गया है. हर घर बिजली पहुंचाने का वादा पूरा किया गया. पहले 700 मेगावाट बिजली खपत होती थी. अब 6000 मेगावाट बिजली की खपत हो रही है.

हर जिले में इंजीनियरिंग कॉलेज, पोलिटेक्निक कॉलेज, जीएनएम संस्थान, महिला आईटीआई खोला गया. महिलाओं को सरकारी सेवाओं में 35 फीसदी आरक्षण दिया गया. पुलिस बल में महिलाओं को आरक्षण दिया गया. हर जिला में पुलिस थाना बनाया गया.

कुछ लोग अपने आप को अपने निजी परिवार तक सीमित रखते हैं. मेरे लिए पूरा बिहार एक परिवार है. हम लोगों ने किसी इलाके, किसी भी तबके की उपेक्षा नहीं की है. पहले महिलाओं की इज्जत नहीं थी, विकास के काम में भी उन्हें नहीं रखा जाता था.

हमलोगों ने सभी तबके को विकास की धारा में जोड़ने का काम किया. पंचायती राज संस्थाओं और नगर निकाय में 50 फीसदी आरक्षण महिलाओं को दिया गया. इस निर्णय के खिलाफ कितने लोग कोर्ट तक गए. लेकिन उन्हें मुंह की खानी पड़ी. हम लोगों के निर्णय को कोर्ट ने सही ठहराया.

उस समय लड़कियां कम पढ़ रही थी. हम लोगों ने साइकिल और पोशाक योजना चलाकर स्कूलों में उनकी संख्या बढ़ाया. टोला सेवक और तालिमी मरकज के माध्यम से स्कूलों से बाहर रहने वाले गरीब के बच्चों को स्कूलों तक पहुंचाया गया.

केन्द्र के सहयोग से और ज्यादा काम किया जा रहा है. आगे गांवों में सोलर स्ट्रीट लाइट लगायी जाएगी. नयी टेक्नोलॉजी से युवाओं को प्रशिक्षित किया जाएगा. रोजगार की तलाश में राज्य के युवाओं को बाहर नहीं जाना पड़ेगा. अगली बार मौका मिला तो जितना काम कराया गया उसका अनुरक्षण का काम किया जाएगा.

और ज्यादा रोजगार दिया जाएगा, और ज्यादा टीचर की वैकेंसी की जाएगी. संस्थान खोले जाएंगे. शहर और बाजार के पास बाइपास बनाया जाएगा. जहां जमीन नहीं मिलेगी तो वहां फ्लाईओवर बनाया जाएगा. अगली बार हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचाया जाएगा.