बिहार के सांसदों का 5 सालों में कितना बढ़ा वेतन, टॉप पर शत्रुघ्न, देखें पूरी लिस्ट …

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार के सांसदों के लिए एक बड़ी खबर है. बिहार के सांसदों का पिछले पांच सालों में कई गुना की बढ़ोत्तरी हुई है. पिछले पांच साल में बेहिसाब सांसदों की संपत्ति में इजाफा हुआ है. साल 2009 से 2014 के दौरान देश के 153 सांसदों की संपत्ति में औसतन 142 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. पटना साहिब संसदीय क्षेत्र से भाजपा के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा इस सूची में सबसे ऊपर हैं. यह सूची इलेक्शन वाॉच और एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने जारी की है.

इलेक्शन वाॉच और एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2009 में शत्रुघ्न सिन्हा की संपत्ति 15 करोड़, 33 हजार 976 रुपए थी, जो वर्ष 2014 में 778 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ एक अरब, 31 करोड़, 74 लाख, पांच हजार 961 रुपए हो गई. टॉप टेन में दूसरे नंबर पर बीजू जनता दल के पिनाकी मिश्रा हैं. पिनाकी मिश्रा की संपत्ति वर्ष 2009 में 29 करोड़, 69 लाख रुपए थी, जो वर्ष 2014 में बढ़ कर एक अरब, 37 करोड़, नौ लाख, 91 हजार, 203 रुपए हो गई. टॉप टेन की सूची में तीसरे नंबर पर एनसीपी की सुप्रिया सुले रहीं, जिनकी संपत्ति वर्ष 2009 में 51 करोड़, 53 लाख, 63 हजार, 663 रुपए से बढ़ कर वर्ष 2014 में एक अरब, 13 करोड़, 90 लाख, 90 हजार, 851 रुपए हो गई.

पार्टी स्तर पर भाजपा नंबर एक और कांग्रेस दूसरे स्थान पर

पार्टी स्तर पर देखें तो भाजपा के 72 सांसदों संपत्ति में 7.54 करोड़ रुपए की औसतन वृद्धि हुई है. वर्ष 2009 में भाजपा के 72 सांसदों की औसतन संपत्ति पांच करोड़, 39 लाख, 43 हजार, 176 रुपए थी, जो वर्ष 2014 में बढ़ कर औसतन 12 करोड़, 93 लाख, 54 हजार, 622 रुपए हो गई. भाजपा सांसदों की संपत्ति में औसतन 140 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. वहीं, कांग्रेस के 28 सांसदों की वर्ष 2009 में पांच करोड़ 85 लाख, 62 हजार, 407 रुपए थी, जो वर्ष 2014 में बढ़ कर 12 करोड़, 21 लाख, 19 हजार, 215 रुपए हो गई. कांग्रेसी सांसदों की संपत्ति में औसतन 109 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है. इंडियन यूनियन मुसलिम लीग के एक सांसद की संपत्ति में 2081 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

पार्टी स्तर की सूची में इंडियन यूनियन मुसलिम लीग के सांसद की औसतन संपत्ति वृद्धि में पहले पायदान पर हैं. इनकी संपत्ति में सर्वाधिक 2081 फीसदी की वृद्धि हुई है. वहीं, दूसरे नंबर पर झारखंड मुक्ति मोर्चा के सांसद हैं. जिनकी संपत्ति 468 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. वर्ष 2009 में इंडियन यूनियन मुसलिम लीग के सांसद की संपत्ति छह लाख, पांच हजार, 855 रुपए थी, जो वर्ष 2014 में बढ़ कर एक करोड़, 32 लाख, 16 हजार, 259 रुपए हो गई. वहीं, झारखंड मुक्ति मोर्चा के सांसद की संपत्ति 82 लाख, 29 हजार, 419 रुपए थी, जो वर्ष 2014 में बढ़ कर चार करोड़, 67 लाख, 60 हजार, 684 रुपए हो गई.

153 सांसदों की सूची में बिहार के पटना साहिब के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा, शिवहर की भाजपा सांसद रमा देवी, औरंगाबाद के जदयू सांसद सुशील कुमार सिंह, मधुबनी के भाजपा सांसद हुकूमदेव नारायण यादव, पश्चिम चंपारण के भाजपा सांसद डॉ. संजय कुमार जायसवाल, दरभंगा के भाजपा सांसद (अब भाजपा छोड़ चुके) कीर्ति आजाद, पूर्वी चंपारण के भाजपा सांसद राधामोहन सिंह, गया के भाजपा सांसद हरि मांझी, नालंदा के जदयू सांसद कौशलेंद्र कुमार और सीवान के सांसद ओम प्रकाश यादव शामिल हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*