जब आरजेडी के ‘सुनील’ से बीजेपी के ‘सुशील’ का हुआ आमना-सामना, दोनों उलझ गए..सभापति को बीच बचाव करना पड़ा

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: 17वीं विधानसभा के पहले सत्र के अंतिम दिन यानी 27 नवंबर को विधान परिषद में जमकर हंगामा हुआ. राज्यपाल के अभिभाषण को लेकर वाद-विवाद प्रस्ताव पर बहस के दौरान आरजेडी पार्षद सुनील कुमार सिंह और सुशील कुमार मोदी आपस में भिड़ गए. राज्यपाल के अभिभाषण में कृषि को लेकर सरकार की ओर से गयी घोषणा को आरजेडी विधानपार्षद सुनील कुमार सिंह ने किसानों के साथ एक भद्दा मजाक करार दिया.

सदन में सुनील कुमार सिंह ने सुशील मोदी की ओर से इशारा करते हुए कहा कि किसने रामधारी सिंह दिनकर की जमीन हड़पा है, यह हम सभी जानते हैं. जो लोग आजतक पैक्स का चुनाव भी नहीं जीत सका और आज बड़ी बड़ी बातें करता है. वो बिहार के किसानों का भला करने की बात कहता है.



आरजेडी विधानसभा पार्षद के इस आरोप पर तुरंत प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए सदन में सुशील कुमार मोदी ने कहा कि सुनील बाबू सूट-बूट पहन लेने से कोई काबिल नहीं हो जाता. रामधारी सिंह दिनकर की जमीन किसने हड़पा है, इसको मैं भी जानता हूं. रहीं बात मेरे चुनाव जितने की तो मैंने आजतक जो भी चुनाव लड़ा कभी हारा नहीं. 3 बार विधानसभा चुनाव और एक लोकसभा चुनाव जीता हूं. इस लिए कोई भी आरोप लगाने से पहले जरा स्टडी कर लिया कीजिए.

दोनों के बीच जारी बहस विषय से विषयांतर होता देख सभापति अवधेश नारायण सिंह ने हस्ताक्षेप किया. उनहोंने एक मुहावरा कर आरजेडी विधानपार्षद सुनील कुमार सिंह को पुरानी बातों का जिक्र नहीं करने की सलाह दी. जिसको मानते हुए बिस्कोमान अध्यक्ष ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण में 14 तारीख से धान अधिप्राप्ति की घोषणा की गयी है.

उन्होंने कहा कि बिहार में 8463 पंचायत है. जाहिर है कि इतने ही पैक्स होंगे. लेकिन सरकार के एक भी मंत्री यह बता दें कि राज्य सरकार ने अभी तक किसी एक पैक्स को धान खरीद के चयनीत किया हो.