बिहार में कब से खुलेंगे स्कूल और कोचिंग, क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में लिया गया यह फैसला…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार में कोचिंग खोले जाने की संभावना बढ़ गयी है. कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए बहुत जल्द इसको खोलने की अनुमति दे सकती हैं सरकार. आज मुख्य सचिव के नेतृत्व में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक हुई. जिसमें आपदा प्रबंधन और स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत मौजूद रहे.

मुख्य सचिव और प्रत्यय अमृत दोनों ने विभिन्न विभागों क प्रधान सचिवों से स्कूल, कोचिंग संस्थानों को खोले जाने पर विस्तार से चर्चा की. प्रत्येक बिन्दुओं पर बारीकी से विमर्श किया गया. सभी ने अपनी-अपनी राय रखी. बैठक बाद मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि आज की बैठक में स्कूलों और कोचिंग संस्थानों के खोले जाने पर किसी प्रकार का फैसला नहीं किया गया. लेकिन कल यानी शुक्रवार को होने वाली बैठक में स्कूल और कोचिंग खोले जाने पर फैसला लिए जाएंगे.



उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार की देखरेख में अन्य राज्यों में खोले गए स्कूल, कोचिंग संस्थानों का अध्ययन किया जा रहा है. यूपी मॉडल के तर्ज पर बिहार में कोचिंग संस्थान खोले जा सकते हैं. यूपी में कोरोना गाइडलाइन के अनुसार वहां बड़े हॉल में एक बेंच पर 2 ही स्टूडेंट को बैठने की अनुमति दी गई है. 40 बच्चों के बैच में हर स्टूडेंट 6 गज की दूरी पर बैठ रहा है. इसके अलावा हरियाणा और चंडीगढ़ के मॉडल पर भी विचार किया जा रहा है.पड़ोसी राज्य UP में कोचिंग को सशर्त अनुमति दी गई है. क्लास 9 से ऊपर के बच्चों के लिए ही यह व्यवस्था बनाई गई है.

बता दें कि कोचिंग संचालकों के प्रतिनिधिमंडल ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से कोचिंग खोलने की मांग की थी. प्रतिनिधिमंडल की ओर से कोरोना काल में सशर्त कोचिंग संचालन की बात कही थी. उनके आश्वासन के बाद सरकार इसपर विचार कर रही है. विभाग लगातार इसपर मंथन कर रहा है. लेकिन अभी इसमें कितना समय लगेगा, यह कहा नहीं जा सकता है.