नौकरी कब देंगे बताईये लोग कर रहे इंतजार: तेजस्वी.


लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार की सियासत में पक्ष और विपक्ष के बीच जुबानी जंग जारी है. नये सरकार के गठन के बाद अब चुनावी मुद्दे पर राजनीति शुरु हो गयी. जनता से किये वादे को लेकर विपक्ष सवाल पूछ रहा है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार को नीतीश सरकार पर एक बार फिर से हमला बोला है.

तेजस्वी यादव ने कहा है कि यदि एक महीने के अंदर बिहार में 19 लाख बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिला तो हम सड़कों पर जन आंदोलन करेंगे. बिहार विधानसभा के बाहर पत्रकारों से बातचीत करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार भीष्म पितामह हैं.



15 साल में प्रदेश के अंदर 60 बड़े घोटाले हुए हैं. भ्रष्टाचारियों का बचाव करना मुख्यमंत्री की फितरत बन गयी है. तेजस्वी ने आगे कहा कि जदयू चोरी से सत्ता में आई है. बिहार में नीतीश कुमार का दल तीसरे नंबर पर पहुंच गया है. राजद सबसे बड़ी पार्टी हो गई है. उन्होंने कहा कि नीतीश कैबिनेट के दर्जनों मंत्री पर संगीन आरोप हैं. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भ्रष्टाचार को लेकर जदयू के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री अशोक चौधरी पर तंज कसा है. एक अन्य ट्वीट में उन्होंने चुनाव को लेकर फिर सवाल खड़ा किया. तेजस्वी यादव ने कहा कि मॉक पोल से जुड़े कागजात स्ट्रांग रूम में होने चाहिए थे मगर वह रास्ते में पड़े मिले. कहा कि चुनाव आयोग को इस घटना की पड़ताल कर दोषियों को नौकरी से बर्खास्त करना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर चुनाव कराने की रस्म अदायगी क्यों हुई. तेजस्वी यादव रविवार शाम दिल्ली से पटना पहुंच गए.