WHO की चेतावनी, कीटाणुनाशक छिड़काव से नहीं मरता कोरोना वायरस

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : कोरोना वायरस के कारण पूरी दूनिया परेशान है. इस बीमारी के संक्रमण से बचने के लिए तमाम तरह के उपाय किये जा रहे हैं. कुछ देश नियमित रूप से कीटाणुनाशक छिड़काव कर रहे हैं ताकि हर सतह को संक्रमण मुक्त किया जा सके. अब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक चेतावनी जारी कर इसे खतरनाक बताया है. WHO का कहना है कि सड़कों पर किया जाने वाला कीटाणुनाशक छिड़काव कोरोना वायरस को खत्म नहीं करता है, बल्कि यह सेहत के लिए बेहद हानिकारण है.

वायरस की सफाई औऱ सतह को कीटाणुरहित पर दिए गए दस्तावेज में WHO ने बताया कि कीटाणुनाशक छिड़काव कोरोना वायरस पर असरदार नहीं है. WHO ने कहा COVID- 19 या अन्य रोगजनकों को मारने के लिए सड़कों या बाजारों जैसी बाहरी जगहों पर छिड़काव या धूमन करना सही नहीं है क्योंकि कीटाणुनाशक धूल और मलबे में निष्क्रिय हो जाते हैं.

WHO ने कहा कि गलियों और फुटपाथ को COVID -19 के ‘संक्रमण का भंडार’ नहीं समझना चाहिए. बाहर किए जाने वाले यह कीटाणुनाशक छिड़काव मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकते हैं. WHO के उस दस्तावेज में इस बात पर जोर दिया गया है कि व्यक्तियों पर कीटाणुनाशक का छिड़काव करना किसी भी परिस्थिति में स्वीकार्य नहीं है, ‘यह शारीरिक और मनोवैज्ञानिक रूप से हानिकारक हो सकता है और यह किसी भी तरह व्यक्ति के ड्रॉपलेट या संपर्क के जरिए संक्रमण के फैलने के खतरे को कम नहीं करता है.

लोगों पर क्लोरीन या अन्य जहरीले रसायनों का छिड़काव करने से आंखों और त्वचा में जलन, ब्रोन्कोस्पास्म और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल पर इसका गहरा प्रभाव पड़ सकता है.