इस कारण बिहार के जेलों में एक साथ की गयी छापेमारी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बता दिया

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार (Bihar) के जेलों (Jail) में आज एक साथ छापेमारी (Raid) की गयी. पटना (Patna) के बेउर जेल (Beur Jail) समेत अन्य जिलों में सुबह-सुबह रेड किया गया. जिसमें कई जगहों से आपत्तिजनक सामान बरामद हुआ है. बिहार के जेलों में छापेमारी को रूटीन काम बताते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि किसी प्रकार की शिकायत मिलने पर इस प्रकार की कार्रवाई की जाती है.

मुख्यमंत्री (CM ) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि मैं समय दर समय इन सब बातों की समीक्षा करता रहता हूं. जहां कहीं भी थोड़ी सी शिकायत मिलती है उस पर तुरंत कार्रवाई की जाती है. जेलों में छापेमारी होते रहना चाहिए. इस प्रकार की कार्रवाई से लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति कंट्रोल में रहती है.

उन्होंने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) द्वारा इमरजेंसी (Emergency) को गलत करार दिए जाने का स्वागत करते हुए कहा कि उस कालखंड का वो सब गवाह रहे हैं. किस प्रकार लोगों के मूल अधिकार का हनन किया गया था. जबरन लोगों को जेल में डाले जा रहे थे. जेपी ने इसके खिलाफ आवाज बुलंद किया. जिसमें हमसभी गोलबंद हुए और इमरजेंसी के खिलाफ लड़ाईयां लड़ी.

आगे सीएम नीतीश ने कहा कि कांग्रेस (Congress) की इसी गलती का खामियाजा तत्कालीन सरकार को भुगतना पड़ा. उन्हें सत्ता से हाथ धोना पड़ा. देश में एक नयी सोच एक विचारधारा का जन्म हुआ. जिससे अग्रज जेपी (JP) थे. उनके बताए रास्ते पर चलकर हम सभी आज विकास के काम को आगे बढ़ा रहे हैं.