पटना के गौरीचक में युवक की गोली मार हत्या, पुलिस के खिलाफ परिजनो का फूटा गुस्सा, थाने पर किया हंगामा

लाइव सिटीज, रिपोर्टर/फुलवारी शरीफ: पटना के गौरीचक पुलिस प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है. जहां दिनदहाड़े एक 17 वर्षीय लड़के को गोली मारकर हत्या कर दी गयी. इसके बाद गौरीचक पुलिस ने हत्या की वारदात को दुर्घटना बताते हुए परिजनों को खबर दिया और डेडबॉडी को नालन्दा मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया. रोते बिलखते जब मृतक के परिजन एनएमसीएच पहुंचे. वहां इमरजेंसी में लड़के को नहीं पाकर और पोस्टमार्टम हाउस के पास गए तो पता चला है कि मृतक का पोस्टमार्टम पुलिस करा रही थी. वहीं परिजन पुलिस की इस कार्यशैली से भड़क उठे और डेड बॉडी को पोस्मार्टम हाउस से वापस गौरीचक थाना के सामने लाकर रख दिया और पटना गया रोड को जाम कर 4 घंटे तक जमकर हंगामा किया.

इतना ही नहीं आक्रोशितों ने गौरीचक थाना पर पथराव कर पुलिस कर्मियों को खदेड़ दिया. सभी पुलिसकर्मी जान बचाकर थाना से फरार हो गया. वहीं अराजकता वाले माहौल में पटना गया रोड में लोग बाल काटने लगे. सड़क जाम से वाहनों की लंबी कतार लगी रही. आक्रोशित ग्रामीणों का कहना था कि आखिर क्या वजह थी कि पुलिस ने हत्या की घटना को दुर्घटना बताकर बगैर परिजन को बताये ही पोस्टमार्टम कराने पर तुली हुई थी. इस मामले में गौरीचक थानेदार की लापरवाही सामने आई है. मृतक के परिजनों ने गौरीचक थाना प्रभारी पर आरोप लगाया है कि हत्यारों से मिलीभगत के लड़के की हत्या की घटना को दी घटना करार देकर शव का आनन फानन पोस्टमार्टम कराने पर तुले थे.

 वहीं हो हंगामा की जानकारी मिलते हैं रैपिड एक्शन फोर्स के साथ सदर एएसपी कई थानों की पुलिस लेकर पहुंचे और आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया. वरीय पुलिस अधिकारी ने मृतक के परिवार वालों को आश्वासन दिया है कि हत्यारों का जल्द से जल्द पता लगाकर गिरफ्तार किया जाएगा और इस मामले में जो भी पुलिस दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

एकलौते बेटे की हत्या से उसकी माँ बहन पछाड़ खाकर बेहोश हो गए. रोते बिलखती मां होश में आने के बाद  बार-बार यही रट लगाए जा रही थी कि उसके बेटे से किसी की क्या दुश्मनी थी जो उसकी हत्या कर उसका कोख उजाड़ दिया. वहीं अंकित की बहन का भी रो-रोकर बुरा हाल था.

गौरीचक थनाध्यक्ष लालमणि दुबे ने बताया कि परीजनों ने घटना के बाबत किसी को नामजद नहीं कराते हुए अज्ञात अपराधियों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है. पुलिस अंकित के पटना किराये के कमरे में रहने के दौरान उसके दोस्तों के साथ ही हर पहलू पर तहकीकात कर रही है. मृतक के मोबाइल को तलाश जा रहा है. मोबाइल नम्बर के सीडीआर को खंगाल कर तकनीकी अनुसन्धान में पता चलेगा कि हत्या की वारदात के समय अंकित किसके साथ था.