हवाई जहाज से मजदूरों की वापसी, मुंबई से 180 प्रवासियों को लाई झारखंड सरकार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना संकट के इस काल में अभी तक जो प्रवासी मजदूरों की तस्वीरें सामने आई है, उसमें वे पैदल, ट्रक से या ट्रेन से घर लौटते दिखाई दे रहे हैं. लेकिन गुरुवार को पहली बार फ्लाइट से मजदूरों की घर वापसी हुई है. झारखंड सरकार और नेशनल लॉ स्कूल बेंगलुरु के पूर्ववर्ती छात्रों के संयुक्त प्रयास से देश की पहली श्रमिक स्पेशल फ्लाइट मुंबई से रांची पहुंची. जिसमें 180 प्रवासी मजदूर सवार थे.

गुरुवार सुबह 6 बजे फ्लाइट मुंबइ एयरपोर्ट से उड़ान भरी और 8.30 बजे रांची एयरपोर्ट पर पहुंची. फ्लाइट लैंडिंग के दौरान रांची के श्रम मंत्री खुद एयरपोर्ट पर मौजूद रहें.  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने खुशी जताते हुए कहा कि हमारी सरकारी की पहली प्राथमिकता मजदूरों की घर वापसी कराना है और इसके लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जल्द ही लद्दाख और अंडमान निकोबार में फंसे झारखंडी मजदूरों को सरकार फ्लाइट से वापस लाएगी.



बता दें कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने केंद्रीय गृह मंत्रालय अमित शाह को पत्र लिखकर प्रदेश के प्रवासी मजदूरों को चार्टड प्लेन से वापस लाने की अनुमति मांगी थी. रांची एयरपोर्ट पहुंचे इन मजदूरों को खाना-पीना देकर जिला प्रशासन ने बस से संबंधित जिले के लिए रवाना किया.