बगहा : डीपीओ ने अपनी जांच में चार की जगह सिर्फ एक शिक्षिका को माना दोषी

जांच के उपरांत डीपीओ

बगहा (अरविंद कुमार): बगहा प्रखण्ड़ दो के मंगलपुर स्थित राजकीय उत्क्रमित उच्च मध्य विद्यालय में पिछले दिनों छात्र-शिक्षक विवाद मामले में आज डीपीओ ने अपने जांच दौरान बच्चों को जहां अनुशासित पाया वहीं सिर्फ एक शिक्षिका को दोषी पाया है. डीपीओ बीएन सिंह के द्वारा जांच के उपरांत जब मीडिया ने उनसे यह पूछा कि छात्र-शिक्षक विवाद मामले में जांच के दौरान आपने क्या पाया है, तो उनका कहना था कि सभी बच्चे यहां विद्यालय में अनुशासित हैं.

मीड-डे मिल के दौरान छात्र

एक शिक्षिका दोषी हैं. डीपीओ ने बाकी सबको वहां पर ठीक ठहराया. जब मीडिया ने आगे पूछा कि विद्यालय कमेटी के द्वारा जिन चार शिक्षकों पर आरोप लगाकर स्थानांतरण करने की बात कही है, वह क्या मामला है ? इस पर डीपीओ को मजबूरन जवाब देना पड़ा और यह कहना पड़ा कि छेड़छाड़ करने वाले, पैर का मसाज करवाने वाले शिक्षकों पर भी जांच हो रही है.



दोषी पाये जाने पर कार्रवाई की जायेगी. जानकारी हो कि उक्त विद्यालय में शिक्षकों के अनुपस्थित रहने के बावजूद उनकी हाजिरी का बन जाना, शिक्षकों द्वारा छेड़छाड़ करना, शिक्षकों द्वारा बच्चों को चप्पल से मारने की शिकायत को लेकर पिछले दिनों बच्चों ने बगहा वाल्मीकि नगर मुख्य सड़क को जामकर प्रशासन को बुलाने एवं कार्रवाई करने की मांग की थी.