एसएम मोइनुलहक कप 2017: पटना और समस्तीपुर ने सेमीफाइनल में किया प्रवेश

जीत के दौरान खिलाड़ी

बेगूसराय (बिनोद कुमार) : बिहार फुटबॉल एसोसिएशन द्वारा बेगूसराय फुटबॉल एसोसिएशन के सहयोग से बरौनी खेल गांव के यमुना भगत मैदान में आयोजित 68वां पुरुष एसएम मोइनुलहक कप 2017 राज्य अंतर जिला स्तरीय मैच के 13वें दिन गुरुवार को दो क्वार्टर फाइनल मैच खेले गए. पहला मैच पटना ने और दूसरा मैच समस्तीपुर रेल ने जीतकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया.

गुरुवार को पहला क्वार्टर फाइनल मैच पटना और दानापुर रेल के बीच खेल गया. खेल के 28 वें मिनट में पटना के खिलाड़ी दिल्लीराम संन्यासी ने पहला गोल किया. खेल के हाफ टाइम तक पटना दानापुर रेल पर 1-0 से बढ़त बनाये रखी. खेल के दूसरे हाफ में दोनों टीमें ने एक भी गोल नहीं कर सकी. खेल के समापन तक पटना ने 1-0 की बढ़त को बनाये रखा. पटना ने दानापुर रेल को 1-0 से पराजित कर जीत हासिल करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश पक्का किया. खेल के दौरान पटना टीम के खिलाड़ी गोपाल मंडी को खेल के 22वें मिनट में पीला कार्ड दिखाया गया.



दूसरा क्वार्टर फाइनल मैच समस्तीपुर रेल और भोजपुर के बीच खेला गया. खेल के हाफ टाइम तक दोनों टीमों ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया. मुकाबला कांटे का था. कोई भी टीम एक भी गोल नहीं कर पायी. खेल के दूसरे हाफ में समस्तीपुर रेल टीम के खिलाड़ी मंजीत कुमार ने पहला गोल किया. खेल के अंत तक भोजपुर टीम पर 1-0 से बढ़त बनाये रखी. समस्तीपुर रेल ने भोजपुर को 1-0 से पराजित कर जीत हासिल करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया. खेल के दौरान भोजपुर टीम के खिलाड़ी सौरभ कुमार सिंह को पीला कार्ड दिखाया गया.

शुक्रवार को पहला सेमीफाइनल मैच वैशाली और मोतिहारी के बीच खेला जाएगा जबकि शनिवार को समस्तीपुर रेल और पटना के बीच खेला जाएगा. रविवार को फाइनल मैच खेला जाएगा. आज के रेफरी मोहम्मद अशफाक आलम, रवि शंकर कुमार, अजय कुमार, दिनेश कुमार सुमन, अलीमुद्दीन, शिव व्रत गौतम,  मुकेश कुमार राय, हरेंद्र कुमार यादव, शशि कुमार सुमन, मोहन कुमार, मनीष राज रहे. मौके पर वैशाली टीम के कोच मो. जावेद खां, हेड ऑफ रेफरी के रूप में सतेंद्र कुमार, मो. नौशादुल हसन मौजूद रहे. ऑब्जर्वर के रूप में रविंदर सिंह तथा कमिश्नर के रूप में ज्वाला प्रसाद सिन्हा मौजूद रहे. मौके मो. नौशादुल हसन, मनोज कुमार सिंह, राकेश कुमार सिंह, मो. दानिश, संजीव कुमार सिंह मुन्ना, भोला सिंह, श्रीदेव सिंह, चन्द्रशेखर दास आदि उपस्थित थे.