अब डाक से घर पहुंचेगा ड्राइविंग लाइसेंस, सभी जिलों में लागू होगी व्यवस्था

लाइव सिटीज डेस्क: पहले पासपोर्ट, आधार कार्ड, एटीएम कार्ड को घर तक पहुंचाने की व्यवस्था थी. लेकिन अब लोगों को घर बैठे ड्राइविंग लाइसेंस की भी व्यवस्था दी गयी है. चार माह के सफल प्रयोग के बाद मंगलवार को इस योजना को कैबिनेट की स्वीकृति मिली. ड्राइविंग लाइसेंस और वाहनों का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट घर तक पहुंचाने की व्यवस्था पहले चरण में पटना से शुरू की गई थी. ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन देने के बाद ड्राइविंग टेस्ट की प्रक्रिया पूरी होने के बाद निर्धारित समय सीमा के अंदर डाक विभाग के जरिए लाइसेंस आवेदकों के दिए पते पर पहुंचा दिया जा रहा है.

इसकी जानकारी परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने दी. उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था की शुरुआत एक अप्रैल को पटना समेत कई जिलों में प्रयोग के तौर पर की गई थी. बता दें कि इससे फर्जी पता देकर डीएल बनाने वालों पर रोक लगी है. वहीं आवेदकों को सुविधा भी हुई है.

आपको बता दें कि इसके पहले पासपोर्ट, बैंक चेकबुक, पैन कार्ड, एटीएम और डेबिट कार्ड ही डाक से आते थे, लेकिन अब परिवहन विभाग डाक विभाग के माध्यम से ड्राइविंग लाइसेंस और वाहनों का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट आवेदकों के घर तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई है. घर बैठे ही आवेदक आसानी से अपना ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं.

बता दें कि यह व्यवस्था हर जिले में करा दी गयी है. गांव-गांव तक स्पीड पोस्ट से डीएल व आरसी भेजने की व्यवस्था की गई है. नई व्यवस्था से आवेदकों के पता का वेरिफिकेशन भी हो जाएगा.