ये किसान ‘ड्रैगन फ्रूट’ नाम के फल की करता है खेती, एक बार मेहनत और 15 साल तक होती है कमाई

लाइव सिटीज डेस्क : देश में बड़े-बड़े शहरों में अगर लोगों से किसान और गांव की बात की जाए तो लोग नाक मुंह सिकोड़ने लग जाते हैं. लेकिन उन्हें सोचने की जरूरत है कि हम जो अनाज खाते हैं वो खेतों से ही आते हैं. लोग सोचते हैं कि गांव में कौन रहे, शहर में जो जिंदगी बै वो ज्यादा अच्छी है. लेकिन हम आपको बता देना चाहते हैं कि खेती को आज नई तकनीक से की जा रही है और उसका लाभ भी दिखने लगा है.

हम आज आपको एक शख्स से मिलवाने जा रहे हैं जिन्होंने एक ‘ड्रैगन फ्रूट’ नाम के फल की खेती करनी शुरू की और आज वो अच्छी कमाई कर रहे हैं. गुजरात के कच्छ जिले में होने वाला ड्रैगन फ्रूट अब प्रदेश के किसानों के लिए आय का अच्छा जरिया बन गया है. बरनाला के गांव ठुल्लेवाल के किसान हरबंत सिंह इसकी खेती से खूब मुनाफा कमा रहे हैं. अब वह दूसरे किसानों को भी इसकी खेती के लिए प्रेरित कर रहे हैं. बड़ी बात यह है कि इसकी कलमें एक बार लगाने पर यह 15 साल तक फल देती हैं. यानी एक बार बिजाई के बाद 15 साल कमाई ही कमाई. इसके साथ ही इसे पानी खड़ा होने वाली जमीन के अलावा किसी भी किस्म की मिट्‌टी में लगाया जा सकता है. ड्रैगन फ्रूट की खेती में पानी की भी नाममात्र जरूरत रहती है.

गर्मी के सीजन में 10 दिन में एक बार और सर्दियों में एक महीने में एक बार सिंचाई की आवश्यकता रहती है. किसान इस फ्रूट के साथ धान को छोड़कर कोई भी फसल लगाकर कमाई दोगुनी कर सकते हैं. एक किला जमीन में इसकी 1600 कलमें लगती हैं. 15 साल तक इसमें फ्रूट लगेगा जो तीसरे साल से भरपूर उत्पादन देने लगेगा. मेहनत के बल पर एक एकड़ से 50 क्विंटल फल हो सकते हैं जिसे बेचकर पांच लाख रुपए कमाए जा सकते हैं. अन्य कोई फसल इतनी कमाई नहीं दे पाती.

ड्रैगन फ्रूट के यह फायदे

सिविल अस्पताल बरनाला के डॉक्टर मनप्रीत सिद्धू ने बताया कि ड्रैगन फ्रूट शरीर में एंटीऑक्सीडेंट का काम करता है. शरीर में खून, चर्बी, दिल व चमड़ी में हर तरह की समस्या ऑक्सीडेंट से पैदा होती है. ड्रैगन फ्रूट खून को साफ करने, शरीर की फालतू चर्बी को रिमूव करने, प्लेटनेट सेंल बढाने आदि का काम करता है.

कब लगाएं

हरबंत सिंह ने बताया कि ड्रैगन फ्रूट की कलम को दो महीने तक गमले में तैयार की जाती है. अप्रैल से लेकर सिंतबर तक इसे किसी भी समय लगाया जा सकता है. गर्मियां इसके लिए अनुकूल समय है.

अब 2 एकड़ में कलमें लगाने की तैयारी

डेढ़ साल पहले की बात है. मैंने सोशल मीडिया पर ड्रैगन फ्रूट के बारे जाना और कच्छ (गुजरात) से 400 पौधे ले आया. इसकी खेती की जानकारी नहीं थी, लेकिन रिस्क लेकर एक पौधे की 70 रुपए कीमत चुकाई. 28 हजार रुपए खर्च करके 400 पौधे लेकर आया और दो कनाल में इन्हें लगाया. पहले साल 58 हजार रुपए खर्च करके एक साल तक इन्हें पाला. इससे मुझे 40 हजार के फल प्राप्त हुए. इसके अलावा मैनें करीब 50-60 कलमें भी बेचीं. सफल प्रयोग के बाद अब मैं खुश हूं तथा दो एकड़ में कलमें लगाने की तैयारी कर रहा हूं.’

About Ritesh Kumar 2373 Articles
Only I can change my life. No one can do it for me.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*