प्राइवेट कॉलेज से बीएड नहीं पड़ेगा महंगा, हाई कोर्ट ने दिया है यह आदेश

लाइव सिटीज डेस्क : प्राइवेट कॉलेज से बीएड करना कई कैंडिडेट के लिए काफी महंगा पड़ जाता है. कॉलेज की मोटी फ़ीस चुकाना आसान नहीं होता. वहीं सरकारी कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेज की तुलना में बहुत कम होती है. लेकिन सीट की तय सीमा के चलते सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिलना संभव नहीं हो पाता है. फिर प्राइवेट कॉलेज की मोटी फीस बीएड करने के सपने को अधूरा कर देता है. लेकिन हाई कोर्ट के एक फैसले ने बीएड करने के इच्छुक छात्रों को खुशखबरी मिलने जा रही है.

हाई कोर्ट ने बीएड कॉलेज में फीस बढ़ोतरी के मामले में जेपी यूनिवर्सिटी से एक हफ्ते में जवाब तलब किया है. इधर, तिलका मांझी भागलपुर यूनिवर्सिटी ने इस मामले में कोर्ट को बताया है कि सरकारी और प्राइवेट बीएड कॉलेजों की फीस एक समान कर दी गई है. इन दोनों यूनिवर्सिटी के एक-एक कॉलेज ने अलग-अलग याचिका दायर कर निजी सरकारी बीएड कॉलेजों में फीस बढ़ोतरी का मुद्दा उठाया है.

बुधवार को जस्टिस चक्रधारी शरण सिंह की एकलपीठ ने दोनों याचिकाओं पर एकसाथ सुनवाई की। भागलपुर यूनिवर्सिटी की ओर से बताया गया कि राज्य सरकार ने निजी सरकारी बीएड कॉलेजों की फीस एक तरह की कर दी है. अब सभी कॉलेजों को एक लाख 5 हजार रुपए ही लेने हैं. इसलिए इन कॉलेजों ने फीस में भेदभाव का जो आरोप लगाया है, वह बेकार है. कोर्ट ने मामले की सुनवाई एक हफ्ते के लिए टालते हुए जेपी यूनिवर्सिटी से जवाब मांगा है.

यह भी पढ़ें- बीएड डिग्रीधारी टीचरों को करनी होगी 6 महीने की यह जरूरी ट्रेनिंग

इस यूनिवर्सिटी से बीएड कर रहे हैं तो ध्यान दें, नहीं चलेगा कोई जुगाड़

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू

PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN

अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स

मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)