करप्शन के मामले में आखिर सस्पेंड हो गए IAS दीपक आनंद, जारी हो गई अधिसूचना

DEEPAK-ANAND
IAS दीपक आनंद (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : बिहार सरकार ने छपरा के पूर्व डीएम आईएएस दीपक आनंद को निलंबित कर दिया है. आईएएस दीपक आनंद को निलंबित करने की अधिसूचना आज मंगलवार को बिहार सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी कर दी है. विभाग द्वारा जारी अधिसूचना मेन कहा गया है कि भारतीय प्रशासनिक सेवा के 2007 बैच के अधिकारी दीपक आनंद और उनकी पत्नी शिक्षा रानी के विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति से जुड़े मामले में कार्रवाई जारी है. इस संबंध में 2 जनवरी को विशेष निगरानी यूनिट थाना में कांड संख्या 1/2018 दर्ज किया गया है.

विभाग ने कहा है कि इस निलंबन अवधि के दौरान आईएएस दीपक आनंद का मुख्यालय पटना प्रमंडल का आयुक्त कार्यालय होगा. उन्हें इस अवधि में जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा. मालूम हो कि मूल रूप से सीतामढ़ी के रहने वाले दीपक आनंद के कई ठिकानों पर बुधवार 3 जनवरी को निगरानी और आर्थिक अपराध इकाई की विशेष टीमों ने एकसाथ रेड की थी. दीपक आनंद के सीतामढ़ी स्थित पैतृक आवास से लेकर कटिहार में उनकी पत्नी के आवास तक एजेंसियों ने छापेमारी की. आगे देखें विभाग द्वारा जारी आदेश….

IAS दीपक आनंद के यहां Raid में गंजी-गमछा गिन रही थी विजिलेंस, छुपा धन मिला नहीं
IAS दीपक आनंद पर कसा शिकंजा, सीतामढ़ी से कटिहार तक रेड, मिली करोड़ों की संपत्ति
क्या है मामला

दीपक आनंद छपरा के जिलाधिकारी थे. उन्हें मार्च 2017 में पटना के NIT घाट पर हुए नाव हादसे के बाद स्थानांतरित कर पदस्थापन की प्रतीक्षा में भेज दिया गया था. उनपर सारण के बालू माफियाओं से सांठगांठ रखने का आरोप भी लगा था. आनंद इससे पहले बांका और समस्तीपुर के भी जिलाधिकारी रह चुके हैं. उन्होंने बतौर IAS अपने करियर की शुरुआत बेतिया के अनुमंडलाधिकारी के रूप में वर्ष 2008 में की थी.

बालू मामले से ऐसे जुड़े हैं दीपक आनंद

बालू के अवैध कारोबार के लिए छपरा कुख्यात रहा है. 2016 में दीपक आनंद छपरा के डीएम थे. प्रारंभ के महीनों में ही उन्होंने एक रात बड़ी दबिश दी थी. इस दबिश में यह बात खुली थी कि जिले के पुलिस के बड़े अधिकारी अवैध कारोबार में शामिल हैं. रोज 20 रूपये के नोट की ख़ास सीरीज जारी होती है, जिसे दिखाने पर सभी थानों से बेरोकटोक बालू वाले गुजरते हैं. इस दबिश के बाद पूरे बिहार में हंगामा मचा था. बाद में, नाव दुर्घटना मामले में डीएम दीपक आनंद स्थानांतरित कर दिए गए थे.