अस्पताल-डॉक्टर से परेशान हैं तो पप्पू यादव को करें फ़ोन, शैम्पू लगाकर होगी धुलाई

लाइव सिटीज, पटना : जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय संरक्षक व मधेपुरा के सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू यादव ने आज मंगलवार 12 दिसंबर को नया एलान किया. उन्होंने कहा कि गलत-सलत इलाज करने वाले डॉक्टरों-अस्पतालों के खिलाफ जारी लड़ाई की यह अगली कड़ी है. इस कड़ी में उन्होंने पटना में एक कॉल सेंटर की स्थापना अपने बूते कराई है. इस कॉल सेंटर के नंबर पर कोई भी परेशान मरीज अथवा अटेंडेंट फ़ोन कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है. गंभीर मामलों को वे खुद देखेंगे. बाकी, परेशान रोगियों की मदद के लिए बिहार के सभी जिलों में प्रतिनिधियों की नियुक्ति पप्पू ने की है.

लाइव सिटीज से बातचीत करते हुए सांसद पप्पू यादव ने कहा कि लुटेरे हेल्थ सिस्टम के खिलाफ उनकी लड़ाई बिहार के आम आदमी को राहत पहुंचाएगी. इन आम लोगों को लुटने से बचाने और सही इलाज की व्यवस्था कराने के लिए मुझे कुछ भी करना पड़े, करेंगे. अब इस लड़ाई को कोई गुंडागर्दी कहता है, तो कहता रहे. हम तो साक्ष्यों और मरीजों की गवाही के साथ लुटेरे अस्पतालों-डॉक्टरों को शैम्पू लगाकर जरुर धोयेंगे. लेकिन हां,  यह लड़ाई हिंसक नहीं, मरीजों को बस हक़ दिलाने की होगी.



Pappu-Hospital (2)
पटना के शिवा अस्पताल में बंधक बनाई गई मरीज के साथ पप्पू यादव

कॉल करें 7274000111 पर

पप्पू यादव ने कहा कि 7274000111 नंबर का हेडक्वार्टर पटना में है. यहां पूरे बिहार के लोग फ़ोन कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. फिर इस कॉल सेंटर के माध्यम से जिलों के प्रतिनिधियों का नंबर भी प्राप्त होगा. जिलों के ये प्रतिनिधि अपने क्षेत्र के अस्पतालों में मरीजों की परेशानी को कम करेंगे.

पप्पू ने कहा कि वे बार-बार स्पष्ट कर रहे हैं कि उनकी लड़ाई सही और सच्चे डॉक्टरों से नहीं है. ऐसे डॉक्टरों का वे सम्मान करते हैं और आगे भी करेंगे. लेकिन लुटेरे डॉक्टरों-अस्पतालों को हरगिज नहीं छोड़ेंगे. ऐसे लुटेरे डॉक्टर और अस्पताल चाहे जितने एकजुट हो जायें, कुछ नहीं होने वाला है. कारण कि बिहार की जनता इनसे तबाह है.

पटना के ही एक अन्य अस्पताल में पीड़ित के साथ पप्पू यादव

प्रत्येक हफ्ते हेल्थ अदालत लगायेंगे पप्पू

पप्पू ने कहा कि कॉल सेंटर पर जितनी भी शिकायतें दर्ज होंगी, उनका डेटाबेस तैयार किया जाएगा. फिर इनलोगों के साथ मिलकर वे हेल्थ अदालत लगायेंगे. सबों की समस्या सुनी जायेगी. आगे ऐसे उपाय किये जायेंगे, ताकि सोती हुई सरकार जगे. उन्होंने कहा कि हम तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई देते हैं, जिन्होंने गलती किये जाने पर मैक्स जैसे बड़े हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द किया है. इससे दिल्ली में बड़ा मैसेज गया है, पर बिहार में तो बिना लाइसेंस वाले अस्पतालों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए भी सरकार तैयार नहीं होती है. ऐसे में, हमें तो लड़ना ही होगा.

पप्पू ने कहा – अब बिहार में होगी फर्जी-लुटेरे डॉक्टरों की ‘जनठुकाई’, साथ में कालिख भी पोतेंगे
अजय आलोक जी ! उदयन हॉस्पिटल आपका ही है क्या, जहां इलाज बीच में रोक दिया जाता है’