लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: किसी घर में कोरोना का यदि संदिग्ध मरीज है और इसकी जानकारी घर में आने वाले गैस वेंडर को है. वह इसकी सूचना अपने कार्यालय को देगा. कार्यालय के माध्यम से यह सूचना संबंधित अधिकारियों तक पहुंचाई जाएगी. जिससे कोरोना के मरीज का उचित इलाज किया जा सके. कोरोना को फैलाने से रोका जा सके.

वेंडरों को कोरोना मरीज की सूचना देने का प्रावधान हाल में बिहार एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन द्वारा गैस वेंडरों के लिए जारी प्रोटोकॉल में किया गया है. वेंडरों को कोरोना से बचाव के लिए यह प्रोटोकॉल तैयार किया गया है. जिसमें उन्हें कई तरह की हिदायतें दी गई है.

एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि प्रोटोकॉल के प्रति राज्य के सभी गैस एजेंसियों के संचालकों को भेज दी गई है. उससे अपने डिलीवरी वेंडरों पर इसे लागू करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कहा गया है. उन्होंने कहा कि पटना में डिलीवरी वेंडरों द्वारा प्रोटोकॉल का पालन भी शुरू हो चुका है.

डिलीवरी देने के बाद वेंडर ग्राहक से पैसा लेने के बाद प्रोटोकॉल का पालन करते हुए हाथ धो रहे हैं. सिलेंडर डिलीवरी करने वाले बिल्डर बताते हैं कि उन्हें कहा गया है कि पैसे लेने के बाद कपड़े के कम से कम भाग को छुए. अनावश्यक कहीं पर भी ना बैठे. काम खत्म होने के बाद घर जाकर कपड़े साबुन से धोएं और नहाकर ही घर में प्रवेश करें. इसके अलावा ग्राहकों से कम से कम 2 मीटर की दूरी बनाए रखें. बेमतलब किसी भी वस्तु को छूना सख्त मना है