ट्रक की ठोकर से शिक्षिका की मौत, मासूम पुत्र जख्मी

हाजीपुर : हाजीपुर-पटना मार्ग पर औद्योगिक थाना क्षेत्र के पासवान चौक के निकट ट्रक की ठोकर से एक महिला की मौत हो गई जबकि उसका पांच वर्षीय पुत्र गंभीर रुप से जख्मी हो गया.

बाइक चला रहे महिला के पति इस घटना में बाल-बाल बच गए. घटना को अंजाम देने के बाद चालक ट्रक लेकर भागने में सफल रहा है. घटना के बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है. प्रशासन ने मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा देने का आश्वासन दिया है. घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार समस्तीपुर जिला के पटोरी थाना क्षेत्र के साहपुर धमौन गांव निवासी मुकेश कुमार वर्तमान में नगर थाना क्षेत्र के अदलबाड़ी मोहल्ले में रह कर रामप्रसाद चौक के निकट कोचिंग संस्थान चलाते है. शनिवार की सुबह मुकेश कुमार अपनी पत्नी खुश्बु देवी एवं पुत्र आदित्य राज के साथ एक ही बाइक पर सवार होकर गंगाब्रीज थाना के पास जा रहे थे. इसी क्रम में वह जैसे ही औद्योगिक थाना क्षेत्र के पासवान चौक के निकट पहुंचे ही थे कि उनकी बाइक में एक अनियंत्रित ट्रक ने पीछे से ठोकर मार दी. इस घटना में बाइक पर पीछे बैठी खुश्बु देवी एवं उनका पुत्र आदित्य राज गंभीर रुप से जख्मी हो गया. घटना को अंजाम देने के बाद ट्रक समेत चालक भाग निकलने में सफल रहा. घटना के बाद काफी संख्या में स्थानीय लोग घटनास्थल पर जुट गए तथा जख्मी मां-बेटे को एक टेम्पो पर लाद कर इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा. सदर अस्पताल लाने के क्रम में ही रास्ते में खुश्बु देवी की मौत हो गई. सदर अस्पताल में जांच के बाद चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया. इस घटना में जख्मी आदित्य राज खतरे से बाहर बताया गया है. घटना के संबंध में मुकेश कुमार ने बताया कि खुशबु देवी के पिता गंगाब्रीज थाना क्षेत्र के सरायपुर गांव स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय में शिक्षक है. शनिवार की सुबह उनके स्कूल के बच्चे राजगीर भ्रमण पर जा रहे थे. अपने पिता के साथ राजगीर जाने की इच्छा उसकी पत्नी खुश्बु देवी ने जाहिर की थी. उसके इच्छा के अनुरुप उसके पिता ने उसे गंगाब्रीज थाना के निकट तेरसिया मोड़ पर खुश्बु और आदित्य को पहुंचाने को कहा था जहां वाहन लगी हुई थी. वह बाइक से अपनी पत्नी और पुत्र को वाहन के निकट पहुंचाने जा रहे थे इसी दौरान उक्त घटना घट गई. हालांकि उसने अपनी पत्नी को वहां जाने से मना किया था लेकिन वह नही मानी शायद होनी को कुछ और मंजूर था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*