7 खिलाड़ियों की टीम लेकर हम खेल रहे हैं क्रिकेट: वायु सेना प्रमुख

लाइव सिटीज डेस्क: वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ ने भारतीय वायु सेना में जंगी जहाजों की कमी को एक बड़ी चुनौती बताते हुए कहा है कि यह बिलकुल इस तरह है जैसे क्रिकेट में 11 खिलाड़ियों की जगह 7 खिलाड़ियों की टीम के साथ खेला जाए. उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय वायुसेना (IAF) आतंकी हमलों के जवाब में पाकिस्तान के खिलाफ अपनी वायु शक्ति के इस्तेमाल के लिए तैयार है. यह भारतीय सरकार के लिए एक विकल्प के रूप में है, जिसका इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में बीएस धनोआ ने दावा किया कि IAF इस स्थिति में है कि सरकार जब कहे हम माओवादियों पर हमला कर सकते हैं, लेकिन वह भारतीय सीमा में ही हमले की परिकल्पना नहीं करना चाहते. उन्होंने कहा कि वायु सेना को कुल 42 जंगी जहाजों की मंजूरी दी गई है जोकि आमने- समाने की लड़ाई के लिहाज से बेहद कम है. वर्तमान में हमारे पास कुल 32 जंगी जहाज हैं और चीन या पाकिस्तान के साथ कभी भी लड़ना पड़ सकता है. एयर चीफ मार्शल ने कहा, “इतनी कम संख्या के साथ लड़ना ठीक उस तरह है जैसे 7 खिलाड़ियों की टीम लेकर क्रिकेट खेलना. हालांकि हम रणनीति के साथ तैयार हैं.” प्राप्त संसाधनों के साथ लड़ाई में उतरने के लिए वायु सेना ज्यूडिसियस फोर्स एम्प्लॉयमेंट फिलॉसफी पर काम करती है.

उनसे पूछा गया कि क्या भारतीय वायुसेना ने सरकार को पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) में एरियल सर्जिकल स्ट्राइक करने का विकल्प दिया था, इस पर उन्होंने कहा, “आतंकी हमलों के जवाब में वायु शक्ति का इस्तेमाल करने का फैसला सरकार को ही लेना है. वायुसेना इसके लिए हर समय तैयार है.” बता दें कि सीमा सुरक्षा रेखा पर (LoC) पर पिछले कुछ हफ्तों से तनाव काफी बढ़ा हुआ है.

खासकर पिछले महीने हुई उस घटना के बाद जब पाकिस्तान सेना की बॉर्डर एक्शन टीम ने दो भारतीय जवानों के शव के साथ बर्बरता की थी.