अर्नब पर उनकी पूर्व कंपनी ने दर्ज कराई FIR

लाइव सिटीज डेस्क : जानेमाने टीवी जर्नलिस्ट अन्राब गोस्वामी को अपना ‘रिपब्लिक’ चैनल लांच किये अभी कुछ ही दिन हुए हैं. इतने कम वक़्त में कई प्रकार के विवादों में फंसे अर्नब पर अब एक नई मुसीबत आ गई है. इससे पहले जिस अंग्रेजी न्यूज़ चैनल ‘टाइम्स नाउ’ ने उन्हें शोहरत की बुलंदियों पर पहुंचाया, अब उसी चैनल ने उनपर मुकदमा कर दिया है. टाइम्स नाउ की पैरेंट कंपनी बेनेट कोलमैन ऐंड कंपनी लिमिटेड (BCCL) ने ‘रिपब्लिक टीवी’ के संस्थापक अर्नब गोस्वामी और चैनल की रिपोर्टर प्रेमा श्रीदेवी के खिलाफ कॉपीराइट के उल्लंघन को लेकर FIR दर्ज कराई है.

BCCL ने मुंबई के आजाद मैदान पुलिस स्टेशन में IPC की धारा 378, 379, 403, 405, 406, 409, 411, 414 और 418 के साथ-साथ IT ऐक्ट, 2000 के सेक्शन 66-B, 72 और 72-A के तहत मामला दर्ज कराया है. FIR में गोस्वामी और चैनल की रिपोर्टर पर चोरी, आपराधिक विश्वासहनन, संपदा के दुरुपयोग और BCCL की बौद्धिक संपदा अधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कहा गया है कि रिपब्लिक टीवी पर BCCL की बौद्धिक संपदा का उपयोग 6 और 8 मई 2017 को कई मौकों पर किया गया.

अतीत में टाइम्स नेटवर्क के इंग्लिश न्यूज चैनल टाइम्स नाउ में बतौर एडिटर इन चीफ के पद पर काम कर चुके गोस्वामी ने बीती 6 मई को अपना न्यूज चैनल रिपब्लिक टीवी लॉन्च किया. लॉन्च के पहले दिन न्यूज चैनल ने RJD प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर ‘खुलासा’ करते हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और जेल में बंद पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के बीच फोन पर हुई बातचीत के कुछ ऑडियो टेप चलाए. चैनल के मुताबिक यह बातचीत उस वक्त हुई जब शहाबुद्दीन बिहार की जेल में बंद थे.

8 मई को रिपब्लिक टीवी पर एक और स्टोरी दिखाई गई जिसमें टाइम्स नाउ की पूर्व न्यूज रिपोर्टर श्रीदेवी की कांग्रेसी नेता शशि थरूर की पत्नी स्वर्गीय सुनंदा पुष्कर औऱ उनके नौकर नारायण से फोन पर हुई बातचीत के ऑडियो टेप चलाए गए. BCCL की शिकायत के मुताबिक इन दोनों स्टोरीज में फोन पर हुई बातचीत के ऑडियो टेप्स के रूप में जो सामग्री उपयोग की गई, उस सामग्री तक पहुंच बनाने और उसे प्राप्त करने का काम उस वक्त किया गया जब गोस्वामी और श्रीदेवी, दोनों टाइम्स नाउ के कर्मचारी थे.

BCCL की एक आंतरिक जांच में यह बात साबित हुई है कि ये टेप गोस्वामी और श्रीदेवी को उस वक्त प्राप्त हुए जब वे दोनों BCCL की सर्विस में थे। BCCL ने गोस्वामी और श्रीदेवी के खिलाफ दर्ज कराई गई आपराधिक शिकायत में इस बात का जिक्र किया है. शिकायत में कहा गया है कि गोस्वामी और श्रीदेवी, दोनों ने इस बात को ऑन-एयर स्वीकार करते हुए दावा किया है कि सुनंदा पुष्कर मामले के 8 मई को चलाए गए ऑडियो टेप उनके पास पिछले 2 साल से हैं, जब वे पिछले संस्थान (टाइम्स नाउ) में काम करते थे.

शिकायत में आरोप है कि गोस्वामी और श्रीदेवी ने जान-बूझकर, सोच-समझकर और पूर्ण संज्ञान में अपने फायदे के लिए टाइम्स नाउ की उक्त बौद्धिक संपदा का दुरुपयोग किया जो कि IPC की धारा 403 और लागू कानूनों के कई अन्य प्रावधानों के तहत दंडनीय अपराध है. टाइम्स नेटवर्क के बैनर तले कई टेलिविजन चैनल्स और उनका मालिकाना हक BCCL के पास है. इसका इंग्लिश न्यूज चैनल टाइम्स नाउ, जो कि 31 जनवरी 2006 को लॉन्च किया गया था, अपने क्षेत्र में अग्रणी चैनल है.

नीतीश के करीबी बिहार के ‘बाबू’ ने कर दी है अर्नब की तारीफ़, उठ रहे हैं सवाल