2G के बाद अब ‘आदर्श’ स्कैम में भी कांग्रेस को बड़ी राहत, बॉम्बे हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला

मुंबई : कांग्रेस पार्टी को दो दिनों में दूसरी बड़ी राहत मिली है. गुरुवार को दिल्ली में विशेष कोर्ट द्वारा 2जी स्कैम में सभी आरोपियों को बरी किये जाने के बाद आज शुक्रवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी पार्टी के लिए मुश्किल बने महाराष्ट्र के पूर्व सीएम को राहत दे दी. महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण को यह राहत चर्चित ‘आदर्श’ स्कैम में मिली है. हाईकोर्ट ने इस मामले में उनपर मुकदमा चलाने की मांग खारिज कर दी है. चव्हाण पर मुकदमा चलाये जाने को महाराष्ट्र के राज्यपाल विद्यासागर राव ने इसी साल मार्च में मंजूरी दी थी, जिसे हाईकोर्ट ने अब रद्द कर दिया है.

बता दें कि महाराष्ट्र के चर्चित आदर्श घोटाला मामले में उस समय नया मोड़ आ गया था, जब राज्यपाल विद्यासागर राव ने मार्च में पूर्व सीएम अशोक चव्हाण के खिलाफ केस चलाने की मंजूरी दे दी थी. सीबीआई का कहना था कि 13 मंत्रियों, नौकरशाहों और सेना के अधिकारियों ने दक्षिणी मुंबई के कोलाबा में आदर्श हाउसिंग सोसाइटी में सस्ती कीमत पर फ्लैट खरीदने के लिए सांठगांठ की थी. आज इस मामले में फैसला देते हुए कोर्ट ने कहा कि आदर्श सोसाइटी घोटाला मामले में चव्हाण पर मुकदमा चलाने की मंजूरी मांगते वक्त सीबीआई उनके खिलाफ कोई नया सबूत पेश करने में नाकाम रही.



महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण

गौरतलब है कि आदर्श हाउसिंग सोसाइटी कारगिल शहीदों के परिजनों के लिए बनायी गयी थी, जिसमें उन्हें आवास देना था, लेकिन इसमें राजनीति, नौकरशाही व अन्य पेशों से जुड़े लोगों ने फ्लैट हासिल कर लिये थे. अब इस मामले में अशोक चव्हाण को राहत मिलने के बाद कांग्रेस नेताओं ने उत्साह में भाजपा पर तीखा हमला शुरू कर दिया है. कांग्रेस नेता संजय निरुपम और गौरव पंधी ने ट्वीटर के माध्यम से भाजपा पर सवाल उठाये हैं.

मालूम हो कि जब महाराष्ट्र में आदर्श हाउसिंग सोसाइटी घोटाला हुआ तो चव्हाण महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री थे. इसके बाद उन्हें सीएम पद से इस्तीफा देने के लिए मजबूर होना पड़ा. अशोक चव्हाण उन 13 लोगों में शामिल हैं, जिन्हें सीबीआई ने आदर्श घोटाले में चार्जशीट किया था. पूर्व कांग्रेसी मुख्यमंत्री मौजूदा समय में पार्टी के सांसद हैं, और महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं.

आदर्श हाउसिंग सोसाइटी (फाइल फोटो)

अशोक चव्हाण महाराष्ट्र में पार्टी के बड़े मराठा चेहरे हैं. 2014 में जब राज्य में एनडीए की लहर चल रही थी तो वो पार्टी ओर से जीतने वाले दो नेताओं में से एक थे. उन्हें लातूर से जीत मिली थी. चव्हाण की राहत कांग्रेस के लिए दोहरी खुशी हो सकती है. अभी गुरुवार को ही कांग्रेस के दामन पर लगे दाग जैसे 2G घोटाले में सारे आरोपियों को पटियाला हाउस कोर्ट ने बरी कर दिया था.

‘खराब नीयत से लगाए थे आरोप, साजिश थी कांग्रेस के खिलाफ’
शत्रु ने शेयर किया यह आंकड़ा, कहा – छत पर चढ़ ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ चिल्लाना आसान है