UP का हाल : योगी बता रहे थे कानून का राज, अपहर्ता अगवा कर ले गए उद्योगपति मित्तल को

लखनऊ : उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था फिर से चरमराने लगी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दावा तो जरुर कर रहे हैं, लेकिन बदमाश भी उन्हें खुले में चैलेंज कर रहे हैं. आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जब उत्तर प्रदेश विधानसभा में कानून-व्यवस्था पर भाषण दे रहे थे, तभी फिरोजाबाद में बड़ा अपहरण हो गया. पुलिस की वर्दी में सामने आये अपहर्ता उद्योगपति व कांच कारोबारी संजय मित्तल को अपने साथ किडनैप कर ले गए. कोई 20 साल पहले संजय के पिता सतीश प्रकाश मित्तल को भी अगवा किया गया था. कहा जाता है कि तब वे 1 करोड़ रूपये की फिरौती देकर छूटे थे.



संजय मित्तल के अपहरण की वारदात ने योगी सरकार की परेशानी बढ़ा दी है. वजह कि अभी मथुरा के चर्चित लूट-मर्डर कांड की गुत्थियां अबतक नहीं सुलझी हैं. वहां लूट के दौरान अपराधियों ने सर्राफा कारोबारी की हत्या की थी. फिरोजाबाद में हुए अपहरण के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक़ एफएम समूह के मालिक संजय मित्तल दोपहर 12 बजे के करीब अपने घर से फैक्ट्री जाने को इनोवा से निकले थे. इनोवा उनका ड्राईवर बबलू चला रहा था. तभी नगला भाऊ चौराहे पर गाडी के मुड़ने के पहले ही पुलिस की वर्दी में खड़े दो बदमाश सामने आये और इनोवा रुकवा ली.

SANJAY-MITTAL

इनोवा रुकते ही दोनों बदमाश गाडी के भीतर दाखिल हो गए. फिर पिस्तौल की नोक पर गाडी को अपने रास्ते भगा ले गए. संजय मित्तल के अपहरण की खबर मिलते ही फिरोजाबाद से लखनऊ तक हंगामा मच गया. पुलिस ने मौका-ए-वारदात से बिना नंबर की एक मोटरसाइकिल बरामद की है. इसे अपहर्ताओं का ही माना जा रहा है. पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरु कर दी है. यूपी के DGP खुद मोनिटरिंग कर रहे हैं. एसएसपी अजय कुमार और SP सिटी संजीव बाजपेयी का ऑपरेशन स्टार्ट हो गया है. खबर लिखे जाने तक अपहर्ताओं की ओर से कोई संपर्क नहीं किया गया है. पुलिस को भी अपहर्ता गिरोह के बारे में पुख्ता खबर नहीं है.

यह भी पढ़ें :

SIT गठित : IAS अनुराग की मौत पर संस्पेंस से 72 घंटे में हटेगा पर्दा !

तीन तलाकः पैनल में मुस्लिम जज की खामोशी ने खड़े किए कई सवाल

कार्ति चिदंबरम पर ED ने दर्ज किया मनी लॉन्ड्रिंग का केस