CBSE ने कर दिया साफ़, इस महीने में ही होगी 10-12 क्लास के बोर्ड एग्जाम

नई दिल्ली : सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा अगले साल मार्च महीने में ही होगी. सीबीएसई ने इसकी पुष्टि कर दी है. इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि आगामी वर्ष के लिए परीक्षा का आयोजन फरवरी महीने में होगा. कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इससे पहले परीक्षा का आयोजन फरवरी महीने में होने का अनुमान था. कॉपियों की अच्छी तरह से जांच हो सके, इसीलिए परीक्षा का समय एक महीना आगे बढ़ाने की खबरे सामने आ रही थीं.

मिली जानकारी के अनुसार सीबीएसई परीक्षाओं का आयोजन 1 महीने के अंदर ही कराने पर विचार कर रहा है ताकि शिक्षकों को आन्सर शीट चेक करने के लिए ज्यादा समय मिल सके. दरअसल, मार्च महीने में शुरू होने वाली परीक्षाएं अप्रैल के तीसरे हफ्ते तक समाप्त होती हैं. लेकिन इस बार परीक्षाएं मार्च महीने में समाप्त हो सकती हैं.



बता दें कि बीते जून महीने में बोर्ड द्वारा कहा गया था कि शेड्यूल में किसी भी तरह के बदलाव स्कूलों की सलाह लिए बिना नहीं किए जाएंगे. साल 2016-17 की बोर्ड परीक्षाओं के लिए 10.76 लाख उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया था जिनमें से 10.20 लाख परीक्षा में बैठे थे. वहीं 2017 में 824355 छात्र बोर्ड परीक्षा में पास हुए थे. बोर्ड परीक्षा के लिए डेटशीट भी जनवरी 2018 में जारी कर दी जाएगी.

सीबीएसई ने इससे पहले 12वीं की बोर्ड परीक्षा के प्रश्न पत्र के प्रारूप में परिवर्तन किया है. इस बदलाव के तहत अब प्रश्न पत्र में बहुविकल्पीय प्रश्न नहीं पूछे जाएंगे. इनकी जगह प्रश्न पत्र में अति लघु उत्तरीय प्रश्नों की संख्या अधिक होगी. सीबीएसई ने संबद्ध स्कूलों को परिपत्र जारी कर कहा कि 12वीं कक्षा के प्रश्न पत्रों का नया प्रारूप 2018 में होने वाली बोर्ड परीक्षा में लागू होगा. इसके तहत अब 12वीं परीक्षा के प्रश्न पत्र में सिर्फ तीन ही तरीके के प्रश्न पत्र पूछे जाएंगे, जिसमें अति लघु उत्तरीय, लघु उत्तरीय और दीर्घ उत्तरीय प्रकार के प्रश्न होंगे.