नाक और मुंह से स्वाब लेकर कोरोना टेस्टिंग के बदले अब इस तकनीक से होगी जांच

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना टेस्ट करने के लिए नाक और मुंह के स्वाब को लिया जाता रहा है. लेकिन अब एक नयी तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा. जी हां, महाराष्ट्र सरकार कोरोना टेस्टिंग के लिए अब आवाज को जरिया बनाएगी. आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन महाराष्ट्र कोरोना के मामले में देश में सबसे ऊपर है.

ऐसे में महाराष्ट्र सरकार ने इस नयी तकनीक का इस्तेमाल करने का सोचा है. इसको लेकर अभी कोई बहुत ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है लेकिन शिवसेना नेता और राज्य सरकार के मंत्री आदित्य ठाकरे ने खुद इसके बारे में जानकारी साझा की है.



आदित्य ठाकरे ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘बीएमसी आवाज के नमूनों का उपयोग करके AI-आधारित कोविड टेस्टिंग का एक परीक्षण करेगी. आरटी-पीसीआर टेस्टिंग भी होती रहेगी, लेकिन दुनियाभर में टेस्ट की गई तकनीकें साबित करती है कि महामारी ने हमें हमारे स्वास्थ्य ढांचे में तकनीक के उपयोग से चीजों को अलग तरह से देखने और विकसित करने में मदद की है.’