Kisan Tractor Rally: दिल्ली में लाल किला पर पहुंच किसान, नोएडा और गाजियाबाद में लाठीचार्ज, कई मेट्रो स्टेशन के गेट बंद

लाइव सिटीज, सेंट्रक डेस्क : तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में ट्रैक्टर रैली के दौरान किसान उग्र होते जा रहे हैं. वे दिल्ली के शहरी इलाकों में भी पहुंच गए हैं. मिल रही ताजा जानकारी के अनुसार, किसानों का एक बड़ा जत्था लाल किला पर पहुंच गया है. बताया जाता है कि यहां से कुछ नजदीक ही किसानों ने आइएसबीटी के पास ट्रैफिक पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की है. नोएडा और गाजियाबाद में किसानों पर लाठीचार्ज की खबर आ रही है. इस बीच संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से आधिकारिक बयान जारी कर कहा गया है कि दिल्ली में घुसकर हिंसा, तोड़फोड़ और मारपीट करने वालों का उनके संगठन से कोई वास्ता नहीं है.

जानकारी के अनुसार, किसानों के हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली मेट्रो के कई स्टेशनों के गेट बंद कर दिये गये हैं. इनमें आइटीओ मेट्रो स्टेशन भी शामिल है. दोपहर बाद किसानों का एक जत्था लाल किला पर पहुंच गया है. पुलिस के लिए चुनौती बढ़ती जा रही है. बता दें कि दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर चल रहा किसानों के धरना का आज 62वां दिन है.

दूसरी ओर किसान दिल्ली पुलिस के तय रूट का उल्लंघन करते हुए बाहरी रिंग रोड से होते हुए दिल्ली की तरफ पहले ही कूच कर गए हैं. पुलिस भी उन्हें नहीं रोक रही थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले सिंघु बॉर्डर के साथ टीकरी और यूपी बॉर्डर पर भी किसानों ने तय समय से पहले ट्रैक्टर परेड शुरू कर दी थी. बता दें कि मंगलवार की सुबह कई पुलिसवालों को पीटते हुए मुकरबा चौक से किसान आगे बढ़े.

इसके बाद कुछ किसान आपस में ही भिड़ गए थे. इसके बाद हालात काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े. गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने तय शर्तों के अनुरूप गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न होने के बाद ट्रैक्टर परेड निकालने की इजाजत दी थी, लेकिन किसानों के अलग—अलग जत्थे ने मंगलवार सुबह से ही दिल्ली में घुसने की कोशिश शुरू कर दी थी.