दिल्‍ली विधानसभा : भ्रष्टाचार के आरोपों पर सफाई नहीं, ‘आप’ ने दिखाया ईवीएम का डेमो

saurabh-evm

लाइव सिटीज डेस्क : आम आदमी पार्टी से निलंबित नेता कपिल मिश्रा की ओर से दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर लगाए गए सनसनीखेज आरोपों के बाद मंगलवार को दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र पर सबकी नजरें थीं. दिल्ली विधानसभा का एक दिवसीय सत्र जोरदार हंगामे के साथ शुरू हुआ. उम्मीद की जा रही थी कि केजरीवाल अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब देंगे, लेकिन आम आदमी पार्टी ने यहां ईवीएम से कथित तौर पर छेड़छाड़ का मामला उठा दिया.

आम आदमी पार्टी की ओर से चर्चा की शुरुआत आप नेता अल्का लांबा ने की. अल्का ने कहा कि जिस प्रदेश में फ्रिज में बीफ रखे होने के शक में एक शख्स की हत्या हो जाती है, वहां क्या ईवीएम पर शक नहीं जताया जा सकता. अल्का के मुताबिक, ईवीएम टैंपरिंग के मामले पर आप नेताओं ने तीन बार दिल्ली चुनाव आयोग से जानकारी मांगी, लेकिन अभी तक कोई जानकारी नहीं दी गई.

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने पूरे सदन के सामने EVM में टेंपरिंग का डेमो दिखाया. डेमो में सौरभ ने आम आदमी पार्टी को 10 वोट दिए, जबकि बीजेपी को 3 के सामने वाला बटन तीन बार दबाया. जब उन्होंने रिजल्ट दिखाए तो वो चौंकाने वाले थे.रिजल्ट में बीजेपी को 11 वोट मिले. जबकि उसे सिर्फ 3 वोट मिले थे.

गौरतलब है कि है कि कपिल मिश्रा ने अरविंद केजरीवाल पर 2 करोड़ की रिश्वत लेने का आरोप लगाया है. मिश्रा ने कहा कि उन्होंने अपनी आंखों के सामने केजरीवाल को सत्येंद्र जैन से 2 करोड़ रुपये लेते हुए देखा है. उन्होंने इसके खिलाफ आवाज़ उठाई तो उन्हें मंत्रिमंडल से निकाल दिया और पार्टी से निलंबित कर दिया है.

Arvind-Kejriwal

आम आदमी पार्टी के इन आरोपों को बेबुनियाद बता रही है. संजय सिंह ने कहा कि कपिल मिश्रा ‘आप’ के खिलाफ साजिश का हिस्सा हैं. कपिल के माध्यम से ‘आप’ को परेशान करने का खेल चल रहा है. कपिल मिश्रा मंत्रि पद जाने की बौखलाहट में इस तरह के आरोप लगा रहे हैं.

यह भी पढें – गुजरात में शराबबंदी का सच : नशे में धुत मिला डिप्टी सीएम का बेटा
बुधवार से दिल्ली मेट्रो में सफर होगा महंगा, DMRC ने बढ़ाया किराया