बाबरी केस : कल तय होंगे आडवाणी-जोशी और उमा के खिलाफ आरोप, बढ़ी मुश्किलें

babri-masjid

लाइव सिटीज डेस्क : बाबरी मस्जिद केस की सुनवाई कर रही विशेष अदालत ने बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और अन्य को कोर्ट के समक्ष 30 मई को पेश होने के लिए कहा है. अदालत चाहती है कि आरोप तय होते वक्त तीनों कोर्ट में मौजूद रहें. सीबीआई की विशेष अदालत मेंअयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराने के षड्यंत्र मामले के आरोपियों की साजिश के आरोप आज से तय करने की प्रक्रिया शुरू हो रही है. यह दो दिन 25 और 26 मई तक चलेगी.

बता दें कि आज 25 मई को महंत नृत्य गोपाल दास, रामविलास वेदांती और सतीश प्रधान सहित 5 नेताओं पर आरोप तय होंगे, जबकि लखनऊ की स्पेशल सीबीआई कोर्ट बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार और साध्वी ऋतंभरा तथा विष्णु हरि डालमिया के खिलाफ 26 मई को आरोप तय करेगी. इन सभी नेताओं पर 1992 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिराने की साजिश में शामिल होने के आरोप है. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई कोर्ट को इस मामले में आरोपियों के खिलाफ षड्यंत्र के आरोप भी जोड़ने के आदेश दिए थे.

babri-masjid

गौरतलब है कि अयोध्या में 6 दिसंबर, 1992 को बाबरी मस्जिद ढहाये जाने के बाद दो FIR दर्ज हुई थीं. तब सीबीआई ने 49 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र तैयार किए थे, लेकिन 13 आरोपी मुकदमा शुरू होने से पहले ही बरी हो गए. जबकि दो आरोपीअशोक सिंघल और गिरिराज किशोर का निधन हो चुका है. याद दिला दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 19 अप्रैल को रायबरेली की अदालत से मामला लखनऊ की अदालत में स्थानांतरित कर एक माह में सुनवाई शुरू कर दो साल में फैसला सुनाने के निर्देश दिए है.

यह भी पढ़ें – शर्मसार यूपी : मां, बहन, पत्नी और भाभी के साथ गैंगरेप, युवक की हत्या
महाराष्ट्र के CM देवेंद्र फडणवीस का हेलीकॉप्टर क्रैश, सुरक्षित हैं सीएम
गजबे हैं देश के चूहे : शराब पीने के पहले चखना में 5 करोड़ का गोल्‍ड गटके थे