13 साल बाद जेल से बाहर निकलेगा दाऊद का यह ‘खास आदमी’

Dawood

लाइव सिटीज डेस्क : भारत के मोस्ट वांटेड डॉन दाऊद इब्राहिम पर अभी पूरी दुनिया की मीडिया की नजर है. दाऊद को हार्ट अटैक आने के बाद उसे पाक के कराची स्थित अस्पताल में एडमिट होने की खबर है. इसे लेकर तरह तरह की बातें भी मीडिया में चल रही हैं. इसी बीच एक और अहम खबर आ गयी है कि दाऊद इब्राहिम का गुर्गा 13 साल बाद जेल से बाहर निकलेगा. उसे गुजरात हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है.

बताया जाता है कि दाऊद का गुर्गा उमर इस्माइल बुखारी उर्फ मामुमिया पंजुमिया पिछले 13 साल से गुजरात के जेल में बंद है. वह अहमदाबाद में 1993 में हथियार बरामद किये जाने के मामले में आरोपी है. य​ह मामला गुजरात के दरियापुर थाने में पुलिस इंस्पेक्टर नियोल परमार ने दर्ज कराया था. उसे पहली बार वर्ष 2004 में गिरफ्तार किया गया था. वहीं आर्म्स एक्ट मामले में वर्ष 2012 में गिरफ्तारी दिखायी गयी थी.

Dawood

इस मामले की गुजरात हाई कोर्ट में सुनवाई की गयी. जस्टिस एसएच वोरा ने उसे आर्म्स एक्ट मामले में बेल दे दी. जस्टिस वोरा ने कहा कि उमर इस्माइल बुखारी को अधिकतम 10 साल की सजा दी जा सकती है और इस मामले में उसे 2012 में गिरफ्तार किया गया था, इस तरह प्रार्थी ने आधी सजा पहले ही काट ली है. उधर इस्माइल बुखारी के वकील सलीम जोखिया ने बताया कि प्रार्थी के खिलाफ कुल 11 मामले दर्ज थे, जिनमें से 8 में उसे बरी कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें : पटना में बम धमाके से दहला स्कूल, कई छात्र जख्मी

उमर इस्माइल बुखारी के वकील ने कहा कि अहमदाबाद, पोरबंदर और जामनगर में तीनों लंबित मामले आर्म्स एक्ट और पुलिस वालों पर फायरिंग से जुड़े हैं. पोरबंदर और जामनगर मामले में पहले ही जमानत मिल चुकी है. अहमदाबाद मामले में बेल मिलने से वह 2004 में गिरफ्तारी के बाद पहली बार जेल से बाहर आएगा.

इसे भी पढ़ें : डॉन दाऊद इब्राहिम को हार्ट अटैक, रखे गये वेंटिलेटर पर!