आज खत्म होगा कुलभूषण जाधव की मां व पत्नी का इंतजार, मिल जाएगा दिल को सुकून

kulbhushan-jadhav
pakistan jail

लाइव सिटीज डेस्क: पाकिस्तान द्वारा गिरफ्तार किये गये भारतीय नागरिक और पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव मामले में आज एक नया मोड़ सामने आया है. आज पाकिस्तान में कुलभूषण की मां और पत्नी उनसे मुलाकात करने पहुंचेंगी. पाकिस्तान का दावा है कि ये बलूचिस्तान में विध्वंसक गतिविधियों में शामिल रहे थे और ये भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसी रॉ के कर्मचारी हैं.

पाकिस्‍तान ने कुलभूषण जाधव को आखिरकार भारत की कूटनीतिक पहुंच देने का फैसला किया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने जिओ न्यूज से बातचीत में यह जानकारी दी. जासूसी के कथित आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व कमांडर कुलभूषण जाधव का परिवार उनसे मुलाकात के लिए सोमवार (25 दिसंबर) को इस्लामाबाद पहुंचा. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय (पीएफओ) पहले ही पुष्टि कर चुका है कि विदेश मंत्रालय में होने वाली इस मुलाकात में भारत के उपउच्चायुक्त जे.पी.सिंह मौजूद रहेंगे. देसाई ने कहा कि जाधव के परिवार को पाकिस्तान में मीडिया से बात नहीं करने दिया जाएगा.



वहीँ कार्यकर्ता ने बताया, “इस मुलाकात के बाद जाधव की मां और पत्नी सोमवार शाम को पाकिस्तान से रवाना हो सकती हैं.” पाकिस्तान सरकार इस मुलाकात की वीडियो रिकॉर्डिग करेगी. उन्होंने बताया कि पीआईपीएफपीडी इस मामले पर नजर रखे हुए है और उन्होंने इस मुलाकात को पाकिस्तान द्वारा विश्वास निर्माण की दिशा में उठाया गया सकारात्मक कदम बताया है, जिससे दोनों पड़ोसी देशों के संबंधों में सुधार में मदद मिलेगी.

गौरतलब है कि पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को तीन मार्च 2016 को गिरफ्तार किया गया था. उन पर जासूसी और आतंकवाद के आरोप लगाए गए थे, जिसके बाद पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने उन्हें मृत्युदंड की सजा सुनाई थी.

पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी और आतंकवाद संबंधी आरोपों को लेकर अप्रैल में 47 साल के जाधव को मौत की सजा सुनायी थी जिसके बाद मई में भारत ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का रूख किया था. भारत की याचिका पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अपना अंतिम फैसला सुनाए जाने तक सजा की तामील पर रोक लगा दी.